संवाददाता डेस्क, अमर उजाला, भुवनेश्वर
अपडेटेड सन, 10 मई 2020 04:18 PM IST

ख़बर सुनता है

बीजू जनता दल (बीजद) के वरिष्ठ नेका और पश्चिमी ओडिशा विकास परिषद के चेयरमैन सुभाष चौहान का रविवार को एक निजी अस्पताल में निधन हो गया। वह 54 साल के थे। चौहान के परिजनों ने बताया कि उनका लीवर की बीमारी का इलाज चल रहा था और रविवार की सुबह उन्होंने अंतिम सांस ली।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और भारतीय जनता पार्टी के लंबे समय तक करीबी सहयोगी रहे चौहान बजरंग दल के राष्ट्रीय संयोजक भी रहे थे। हालांकि, 2019 के आम चुनाव में उन्होंने भाजपा का साथ छोड़ते हुए बीजद से जुड़ गए थे। चौहान के निधन पर मुख्यमंत्री नवीन पटनायक सहित कई नेताओं ने शोक व्यक्त किया।

पटनायक ने कहा कि लोगों की भलाई के लिए चौहान के योगदान को हमेशा याद रखना होगा। इसके साथ ही उन्होंने चौहान की आत्मा की शांति की प्रार्थना करते हुए उनके परिवार को सांत्वना दी। वहीं, केंद्रीय पेट्रोलियम एवं इस्पात मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि उनके जाने से राज्य को अपूर्णीय क्षति हुई है।

बीजू जनता दल (बीजद) के वरिष्ठ नेका और पश्चिमी ओडिशा विकास परिषद के चेयरमैन सुभाष चौहान का रविवार को एक निजी अस्पताल में निधन हो गया। वह 54 साल के थे। चौहान के परिजनों ने बताया कि उनका लीवर की बीमारी का इलाज चल रहा था और रविवार की सुबह उन्होंने अंतिम सांस ली।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और भारतीय जनता पार्टी के लंबे समय तक करीबी सहयोगी रहे चौहान बजरंग दल के राष्ट्रीय संयोजक भी रहे थे। हालांकि, 2019 के आम चुनाव में उन्होंने भाजपा का साथ छोड़ते हुए बीजद से जुड़ गए थे। चौहान के निधन पर मुख्यमंत्री नवीन पटनायक सहित कई नेताओं ने शोक व्यक्त किया।

पटनायक ने कहा कि लोगों की भलाई के लिए चौहान के योगदान को हमेशा याद रखना होगा। इसके साथ ही उन्होंने चौहान की आत्मा की शांति की प्रार्थना करते हुए उनके परिवार को सांत्वना दी। वहीं, केंद्रीय पेट्रोलियम एवं इस्पात मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि उनके जाने से राज्य को अपूर्णीय क्षति हुई है।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *