उप्र की टीम 16 साल बाद फाइनल में पहुंची है.

उप्र के युवा बल्लेबाज माधव कौशिक ने विजय हजारे ट्रॉफी के फाइनल में शानदार बल्लेबाजी की. मुंबई के खिलाफ उन्होंने नाबाद 158 रन बनाए. यह उनके क्रिकेट करिअर का पहला शतक है.

नई दिल्ली. विजय हजारे ट्रॉफी (Vijay Hazare Trophy) का फाइनल मुंबई और उप्र के बीच खेला जा रहा है. मैच में उप्र के ओपनर बल्लेबाज माधव कौशिक (Madhav Kaushik) ने शतक लगाया. इस बल्लेबाज ने शतक के साथ ही नया मुकाम हासिल किया. उप्र ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 4 विकेट पर 312 रन बनाए. माधव कौशिक टूर्नामेंट के इतिहास में फाइनल में 150 रन की पारी खेलने वाले पहले खिलाड़ी बने.

मैच में उप्र ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी का फैसला किया. टीम ने बेहद धीमी शुरुआत की. माधव पहली 23 गेंद पर एक भी रन नहीं बना सके. 24 गेंद पर एक रन लेकर उन्होंने अपना खाता खोला. 10 ओवर के बाद टीम का स्कोर बिना विकेट के 28 रन था. इसके बाद माधव और समर्थ सिंह (55) ने हाथ तेज किए. दोनों ने पहले विकेट के लिए 26 ओवर में 122 रन की साझेदारी की. इसके पहले माधव के लिस्ट ए करिअर की बात की जाए तो उन्होंने 5 मैच में 85 रन बनाए थे. 34 रन उनका उच्चतम स्कोर था. यानी वे फाइनल के पहले एक भी अर्धशतकीय पारी नहीं खेल सके थे और सिर्फ 157 गेंद का सामना किया था. वहीं फाइनल में माधव कौशिक ने 156 गेंद का सामना किया. यानी वनडे करिअर के लगभग बराबर गेंद उन्होंने फाइनल मैच में खेल डाली. यह उनके क्रिकेट करिअर का पहला शतक है. उन्होंने पारी में 15 चौके और 4 छक्के लगाए. मौजूदा विजय हजारे ट्रॉफी सीजन में माधव सिर्फ तीसरा मैच खेल रहे हैं. इसके पहले उन्होंने गुजरात के खिलाफ सेमीफाइनल में 15 रन जबकि दिल्ली के खिलाफ 16 रन बनाए थे.

23 साल के माधव की बात की जाए तो उन्होंने 9 फर्स्ट क्लास मैच में 29 की औसत से 350 रन बनाए. एक अर्धशतक लगाया है. इसके अलावा तीन टी20 मैच में 56 रन बनाए हैं. उप्र की टीम ने 16 साल बाद विजय हजारे ट्रॉफी के फाइनल में जगह बनाई है. टीम ने सेमीफाइनल में गुजरात को हराकर खिताबी दौर में प्रवेश किया था. मुंबई ने कर्नाटक को हराकर फाइनल में जगह बनाई थी.




.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *