वाशिंगटन: अमेरिका में जहां कोरोना (कोरोनावायरस) के बढ़ते प्रकोप ने सरकार को मुश्किल में डाल दिया है, वहीं इलेक्ट्रिक कार निर्माता टेस्ला (टेस्ला) ने केवल इसलिए सुलतान (कैलिफोर्निया) प्रशासन के खिलाफ मुकादमा दायर किया है, क्योंकि लॉकडाउन के कारण उसे प्लांट खोलने की जरूरत है। अनुमति नहीं मिल रही है। वहीं, कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी मस्क (एलोन मस्क) ने प्रशासन की पाबंदियों को गलत करार दिया। गौरतलब है कि कोरोना के प्रसार को सीमित करने के प्रयासों के तहत प्लांट को बंद रखा गया है।

मस्क लगातार कैलिफ़ोर्निया के अल्मेडा काउंटी स्थित टेस्ला के प्लांट को खोलने की मांग करते आ रहे हैं। हालांकि, स्वास्थ्य विभाग इसकी अनुमति देने से इंकार कर रहा है। उसका कहना है कि जब तक महामारी को रोकने के लिए लॉकडाउन जैसे उपाय प्रभावी हैं, टेस्ला को प्लांट खोलने की इजाजत नहीं दी जा सकती है। वहीं, कंपनी का तर्क यह है कि उसने-क्लिक-टू-वर्क ’योजना पूरी तरह से तैयार कर ली है। जिसमें कर्मियों के लिए ऑनलाइन वीडियो प्रशिक्षण, कार्यक्षेत्र विभाजन क्षेत्र, तापमान जांच, उभयलिंगी उपकरण पहनना और सख्त संशोधन और डिसिन्फेक्ट प्रोटोकॉल शामिल हैं।

कॉन्स्ट के खिलाफ बताया गया
कंपनी ने कहा कि उसने अल्मेडा काउंटी के स्वास्थ्य अधिकारियों को अपनी टू क्लिक-टू-वर्क-वर्क ’योजना के बारे में सूचित किया था, लेकिन उन्होंने अनुमति देने से इंकार कर दिया। उन्होंने आगे कहा कि अल्मेडा काउंटी का यह रवैया संघीय और स्लोवेन संविधान के खिलाफ है, साथ ही गवर्नर के आदेशों का भी उल्लंघन करता है।

मस्क की आलोचना शुरू
विदेशी मस्क और उनकी कंपनी के इस कदम की आलोचना भी हो रही है। राजनीतिज्ञ लोरेना एस। गोंजालेज (लोरेना एस गोंजालेज) ने सोशल मीडिया पर मस्क के खिलाफ टिप्पणी की है। उन्होंने अपने ट्वीट में टेस्ला के सीईओ के खिलाफ आपत्तिजनक शब्द का इस्तेमाल किया है। जिसका मस्क ने शालीनता के साथ जवाब दिया है। उन्होंने लिखा है, ‘आपका संदेश प्राप्त हुआ’।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *