ख़बर सुनता है

लॉकडाउन में निर्माण कार्यों को मिली छूट से श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने राममंदिर के लिए भूमि पूजन की तैयारी तेज कर दी है। सुरक्षा और दर्शन के लिए गर्भगृह के आसपास लगाई गई लोहे की घेराबंदी व जाली सहित सीआरपीएफ के कैंप को हटाने का कार्य बृहस्पतिवार से शुरू हो गया है।

इसी के साथ भूमि के समतलीकरण के लिए लार्सन और ट्रबो के उत्पादों को देखने के स्थानीय पीडब्लडी की टीम लगा दी गई है।]यहां कैंप कर रहे ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय और आफिसियो ट्रस्टी जिलाधिकारी अनुज कुमार झा के नेतृत्व में प्रधानमंत्री को बुलाने से पहले मुकम्मल तैयारी का खाका बन गया है।

लॉकडाउन के तीसरे चरण में निर्माण कार्य शुरू करने के बारे में मिली छूट से ट्रस्ट प्रशासन उत्साहित है। डीएम अनुज कुमार झा की ओर से मंदिर के नक्शे के मुताबिक गर्भगृह के चारों ओर लगाई गई लोहे की पाइप की घेराबंदी, लोहे की जाली, अस्थाई सुरक्षा कर्मियों के कैंप को हटाकर समतल उपलब्ध कराने का कार्य जोरों पर है।

पीडब्ल्यूडी खंड दो की ओर से वाहनों में मजदूरों को लाकर प्रकरण की जांच के बाद काम पर लगाया जा रहा है। ट्रस्टी डॉ। अनिल मिश्र को लोहे की सफाई कार्य को रोजाना मॉनीटरिंग की जिम्मेदारी दी गई है। ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय कहते हैं कि अब तेजी से राममंदिर निर्माण की कार्ययोजना पर आगे बढ़ने का वक्त है।

राममंदिर लार्सन एंड टूब्रो नो प्रॉफिट नो लॉस पर बनाएगी, इसके मालिक से स्व। अशोक सिंहल बहुत पहले ही कार्य करने के लिए सहमति ले चुके थे। मौसम ने गर्भगृह सहित आसपास की मिट्टी का परीक्षण कर लिया है। बहुत जल्द ट्रस्ट की बैठक में भूमि पूजन की तिथि तय हो सकती है।

ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने बताया कि मंदिर निर्माण का कार्य विभिन्न चरणबद्ध तरीकों से किया जाना है। पहले चरण में भगवान श्री रामलला को अस्थाई भवन में शिफ्ट कर दिया गया है, तो दूसरे चरण का भी कार्य किया जा रहा है।]दूसरे चरण में राम मंदिर निर्माण स्थल की साफ सफाई का कार्य किया गया था। अब लोहे की रेलिंग को हटाने का कार्य किया जा रहा है। ट्रस्ट के सदस्यों ने वीडियो कालिंग के माध्यम से बुधवार को बैठक आयोजित की गई। इसमें मंदिर निर्माण के लिए चल रहे कार्यों की जानकारी दी गई।

शीघ्र खुल जाएगा राममंदिर ट्रस्ट का कार्यालय
राममंदिर ट्रस्ट का कार्यालय भी खुल जाएगा। रामजन्मभूमि परिसर के समीप स्थित राम कचेहरी मंदिर में ट्रस्ट के कार्यालय का निर्माण चल रहा है। ट्रस्टी डॉ। अनिल मिश्र बताते हैं कि ट्रस्ट कार्यालय के निर्माण का कार्य पूरा हो चुका है, कंप्यूटर आदि आ गए हैं, केवल फिनिशिंग बाकी है। स्थिति सामान्य होते ही कार्यालय का संचालन भी प्रारंभ कर दिया जाएगा।

लॉकडाउन में निर्माण कार्यों को मिली छूट से श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने राममंदिर के लिए भूमि पूजन की तैयारी तेज कर दी है। सुरक्षा और दर्शन के लिए गर्भगृह के आसपास लगाई गई लोहे की घेराबंदी व जाली सहित सीआरपीएफ के कैंप को हटाने का कार्य बृहस्पतिवार से शुरू हो गया है।

इसी के साथ भूमि के समतलीकरण के लिए लार्सन और ट्रबो के उत्पादों को देखने के स्थानीय पीडब्लडी की टीम लगा दी गई है।]यहां कैंप कर रहे ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय और आफिसियो ट्रस्टी जिलाधिकारी अनुज कुमार झा के नेतृत्व में प्रधानमंत्री को बुलाने से पहले मुकम्मल तैयारी का खाका बन गया है।

लॉकडाउन के तीसरे चरण में निर्माण कार्य शुरू करने के बारे में मिली छूट से ट्रस्ट प्रशासन उत्साहित है। डीएम अनुज कुमार झा की ओर से मंदिर के नक्शे के मुताबिक गर्भगृह के चारों ओर लगाई गई लोहे की पाइप की घेराबंदी, लोहे की जाली, अस्थाई सुरक्षा कर्मियों के कैंप को हटाकर समतल उपलब्ध कराने का कार्य जोरों पर है।

पीडब्ल्यूडी खंड दो की ओर से वाहनों में मजदूरों को लाकर प्रकरण की जांच के बाद काम पर लगाया जा रहा है। ट्रस्टी डॉ। अनिल मिश्र को लोहे की सफाई कार्य को रोजाना मॉनीटरिंग की जिम्मेदारी दी गई है। ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय कहते हैं कि अब तेजी से राममंदिर निर्माण की कार्ययोजना पर आगे बढ़ने का वक्त है।

राममंदिर लार्सन एंड टूब्रो नो प्रॉफिट नो लॉस पर बनाएगी, इसके मालिक से स्व। अशोक सिंहल बहुत पहले ही कार्य करने के लिए सहमति ले चुके थे। मौसम ने गर्भगृह सहित आसपास की मिट्टी का परीक्षण कर लिया है। बहुत जल्द ट्रस्ट की बैठक में भूमि पूजन की तिथि तय हो सकती है।


आगे पढ़ें

ट्रस्टियों ने वीडियो कॉलिंग के जरिए मंदिर निर्माण की रणनीति बनाई





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *