यूएई की राजकुमारी हिंद अल कासिमी ने मंदिर में पूजा की
– फोटो : Twitter

ख़बर सुनें

भारत में मुसलमानों के साथ होने वाले कथित उत्पीड़न के खिलाफ आवाज उठाने वाली संयुक्त अरब अमीरात की राजकुमारी हिंद अल कासिमी मुस्लिम कट्टरपंथियों के निशाने पर आ गई हैं। दरअसल, उन्होंने बुधवार को चेन्नई के गोल्डन टेंपल के दर्शन और पूजा करने का एक पुराना वीडियो सोशल मीडिया पर साझा किया। 

इसके बाद मुस्लिम कट्टरपंथियों ने उन्हें ‘काफिर’ कहकर ट्रोल करना शुरू कर दिया। हालांकि राजकुमारी ने उन्हें करारा जवाब देकर उनकी बोलती बंद कर दी। राजकुमारी हिंद अल कासिमी ने बताया कि मैंने मुस्लिम होने के बावजूद पूजा की और मुझे वहां एक अद्भुत ऊर्जा का अहसास हुआ। मैंने भारत में पुदुचेरी के पहाड़ों को देखा। मैं खेतों में गई। मैंने साड़ी और बिंदी खरीदी। मैंने गोल्डन टेंपल की यात्रा की। केले के पत्ते पर खाना खाया।

राजकुमारी ने बताया कि पूरा मंदिर सोने से बना था। मैं मुस्लिम हूं लेकिन लोगों के साथ प्रार्थना साझा करने के लिए गई थी। मंदिर में मैंने लक्ष्मी, शिव, हनुमान के दर्शन किए। उन पर जल अर्पित किया। लोगों को अविश्वसनीय भारत देखना चाहिए।
 

राजकुमारी के वीडियो पर विवाद 
राजकुमारी ने वीडियो पर विवाद शुरू हो गया है। मुस्लिम कट्टरपंथियों ने मंदिर में पूजा करने को ‘हराम’ बताते हुए उन्हें ट्रोल करना शुरू कर दिया है। इसका कड़ा जवाब देते हुए राजकुमारी ने कहा, ‘यह हराम तब होता जब मैंने अपने खुदा के अलावा किसी और ईश्वर की इबादत की होती। मैं अपने खुदा की इबादत करती हूं और वे अपने। मैं मंदिर की वास्तुकला से बेहद प्रभावित हुई और सोने के मंदिर के ढांचे ने मन मोह लिया। मैंने नए दोस्तों से मुलाकात की और उनके साथ खाना खाया। उनसे संस्कृति और धर्म पर बात की। इसमें गलत क्या है?’

 

 

सार

  • यूएई की राजकुमारी हिंद अल कासिमी ने मंदिर में पूजा करने का वीडियो साझा किया 
  • इसके बाद वह मुस्लिम कट्टरपंथियों के निशाने पर आ गईं 
  • उन्होंने करारा जवाब देकर सबकी बोलती बंद कर दी 

विस्तार

भारत में मुसलमानों के साथ होने वाले कथित उत्पीड़न के खिलाफ आवाज उठाने वाली संयुक्त अरब अमीरात की राजकुमारी हिंद अल कासिमी मुस्लिम कट्टरपंथियों के निशाने पर आ गई हैं। दरअसल, उन्होंने बुधवार को चेन्नई के गोल्डन टेंपल के दर्शन और पूजा करने का एक पुराना वीडियो सोशल मीडिया पर साझा किया। 

इसके बाद मुस्लिम कट्टरपंथियों ने उन्हें ‘काफिर’ कहकर ट्रोल करना शुरू कर दिया। हालांकि राजकुमारी ने उन्हें करारा जवाब देकर उनकी बोलती बंद कर दी। राजकुमारी हिंद अल कासिमी ने बताया कि मैंने मुस्लिम होने के बावजूद पूजा की और मुझे वहां एक अद्भुत ऊर्जा का अहसास हुआ। मैंने भारत में पुदुचेरी के पहाड़ों को देखा। मैं खेतों में गई। मैंने साड़ी और बिंदी खरीदी। मैंने गोल्डन टेंपल की यात्रा की। केले के पत्ते पर खाना खाया।

राजकुमारी ने बताया कि पूरा मंदिर सोने से बना था। मैं मुस्लिम हूं लेकिन लोगों के साथ प्रार्थना साझा करने के लिए गई थी। मंदिर में मैंने लक्ष्मी, शिव, हनुमान के दर्शन किए। उन पर जल अर्पित किया। लोगों को अविश्वसनीय भारत देखना चाहिए।

 

राजकुमारी के वीडियो पर विवाद 
राजकुमारी ने वीडियो पर विवाद शुरू हो गया है। मुस्लिम कट्टरपंथियों ने मंदिर में पूजा करने को ‘हराम’ बताते हुए उन्हें ट्रोल करना शुरू कर दिया है। इसका कड़ा जवाब देते हुए राजकुमारी ने कहा, ‘यह हराम तब होता जब मैंने अपने खुदा के अलावा किसी और ईश्वर की इबादत की होती। मैं अपने खुदा की इबादत करती हूं और वे अपने। मैं मंदिर की वास्तुकला से बेहद प्रभावित हुई और सोने के मंदिर के ढांचे ने मन मोह लिया। मैंने नए दोस्तों से मुलाकात की और उनके साथ खाना खाया। उनसे संस्कृति और धर्म पर बात की। इसमें गलत क्या है?’

 

 

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *