• सिक्कम के मुगुथांग के आगे नाकु ला सेक्टर में एलएसी पर हुई थी झड़प
  • इस घटना में 4 भारतीय और सात चीनी सैनिकों को चोट लगी थी

दैनिक भास्कर

11 मई, 2020, 07:09 अपराह्न IST

नई दिल्ली। उत्तरार्थ सिक्किम के नाकु ला सेक्टर में भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच झड़प की घटना सामने आने के बाद चीन ने कहा है कि उनके सैनिक सीमावर्ती क्षेत्रों में शांति बनाए रखने के लिए प्रतिबद्ध हैं। चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियन ने कहा कि चीन की सीमा के सैनिक हमेशा शांति और धैर्य बनाए रखते हैं। चीन और भारत में कोऑर्डिनेशन और कम्युनिकेशन अच्छा है। हम मौजूदा शिक्षकों के माध्यम से सीमा को लेकर व्यवहार पर साथ में हैं।

भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच झड़प मुगुथांग के आगे नाकु ला सेक्टर में एलएसी (लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल) पर शनिवार को हुई। यह इलाका 5 हजार मीटर की ऊंचाई पर है। एक अफसर ने बताया कि 4 भारतीय और 7 चीनी सैनिकों को चोट लगी थी।

व्यावहारिक रवैया की बात को आधारहीन बताया गया

भारतीय सेना ने इस घटना का एक वीडियो भी बनाया था। इस वीडियो में चीनी सैनिकों का आक्रामक रवैया देखा जा सकता है। प्रेस का नानफ्रेंस में जब पूछा गया कि चीन का रवैया संवेदनशील था। इस पर चीनी राजदूत झाओ लिजियन ने कहा कि यह बात आधार हीन है। इस बारे में कोई धारणा नहीं बननी चाहिए।

कहा- भारत और चीन के राजनयिक संबंधों के 70 साल पूरे हुए
उन्होंने कहा, भारत भारत इस साल भारत और चीन के बीच राजनयिक संबंधों के स्थापित होने के 70 साल हो गए हैं। दोनों देशों ने कोविद -19 के खिलाफ लड़ाई में हाथ मिलाया है। ऐसी परिस्थितियों में दोनों देशों को मिलकर काम करना चाहिए और मतभेदों को ठीक करना चाहिए। सीमा क्षेत्र में शांति और स्थिरता को बनाए रखना चाहिए ताकि हमारे द्विपक्षीय संबंध बेहतर होने के साथ-साथ -19 के खिलाफ एक साथ संभव हो सके। ”

ऐसी ही घटना अगस्त 2017 में भी सामने आई थी, जब भारतीय और चीनी सैनिक पैंगाग लेक के पूर्वी किनारे पर आमने-सामने आ गए थे।) इससे पहले डोकलाम में भारत और चीन के बीच तनाव 72 दिन चला गया था। 16 जून 2017 को दोनों सेनाएं आमने-सामने आ गई थीं। दोनों सरकारों की कोशिशों के बाद यह 28 अगस्त 2017 को खत्म हुआ।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *