• केंद्रीय आवास और अर्बन मामलों के मंत्री हरदीप सिंह पुरी को पत्र लिखकर शिकायत करें
  • निर्माण कार्य सुचारू रूप से चलाने के लिए बढ़ती कीमतों पर लगाम लगाने की अपील

दैनिक भास्कर

10 मई, 2020, 08:49 AM IST

नई दिल्ली। रियल टेक्स डवलपर्स के संगठन क्रेडाई ने कहा है कि लॉकडाउन के बावजूद पिछले कुछ हफ्तों में देश में सीमेंट और स्टील की कीमतों में 40 से 50 फीसदी तक का उछाल आया है। इसके लिए संगठन ने उत्पादकों के कथित मूल्यों को लेकर गुटीकरण और अनुचित व्यापार व्यवहार अपनाने का आरोप लगाया है।

केंद्रीय मंत्री से हस्तक्षेप की मांग
कीमतों में वृद्धि पर संगठन ने केंद्रीय हाउसिंग और अर्बन मामलों के मंत्री हरदीप सिंह पुरी को पत्र लिखा है और हस्तक्षेप की मांग की है। पत्र में कहा गया है कि सभी राज्यों में सीमेंट की कीमत 100 से 250 रुपए प्रति बैग और स्टील की कीमत 2000 से 2500 रुपए प्रति टन बढ़ गई है। पिछले कुछ स्थानों में लॉकडाउन के बावजूद सीमेंट और स्टील जैसे कच्चे माल की दुकानों 40 से 50 प्रति बढ़ गए हैं।

निर्माण लागत में वृद्धि होगी
केंद्र सरकार ने ऐसे डवलपर्स को निर्माण की इजाजत दे दी है जिसके लेबर कंस्ट्रक्शन पर पहले से ही उपलब्ध है। क्रेडाई ने कहा है कि कोविड -19 के कारण रियल एस्टेट इंडस्ट्री संकट का सामना कर रही है। अब निर्माण में इस्तेमाल होने वाली वस्तुओं की कीमतों में वृद्धि से पेंच फंस गया है जिससे निर्माण लागत में वृद्धि होगी और पूरे प्रोजेक्ट की कीमत बढ़ जाएगी। क्रेडाई का कहना है कि कम मार्जिन के कारण कई डवलपर्स ने निर्माण कार्य रोक दिया है। इससे परियोजना के पूरा होने में देरी होगी।

कीमतों में वृद्धि का मुद्दा दूसरी मंत्रालयों के समक्ष उठाने की मांग है
क्रेडाई ने केंद्रीय मंत्री से कहा है कि कीमतों में यह अचानक वृद्धि अनैतिक व अनुचित है और व्यापार जगत के खिलाफ है। संगठन ने निर्माण कार्यों को सुचारू रूप से चलाने के लिए केंद्रीय मंत्री से बढ़ती कीमतों पर लगाम लगाने की अपील की। साथ ही संबंधित मंत्रालयों के सामने जल्द से जल्द यह मुद्दा उठाने की मांग की।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *