प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना
– फोटो : पीटीआई

ख़बर सुनें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बांग्लादेश के स्वतंत्रता दिवस की स्वर्ण जयंती समारोह में शामिल होंगे। पीएम मोदी 26 मार्च को अपने दो दिवसीय दौरे पर बांग्लादेश की राजधानी ढाका पहुंचेंगे। वह यहां बांग्लादेश की 50वीं स्वतंत्रता वर्षगांठ के कार्यक्रम के साथ-साथ बंगबंधु शेख मुजीबुर्रहमान की जयंती पर होने वाले समारोह में शामिल होंगे।

बांग्लादेश के विदेश मंत्री एके अब्दुल मोमिन ने शनिवार को यह जानकारी दी। 17 से 27 मार्च तक होने वाले इस समारोह में मालदीव के राष्ट्रपति इब्राहिम मोहम्मद स्वालेह, नेपाल की राष्ट्रपति बिद्या देवी भंडारी, भूटानी पीएम लोते सेरिंग और श्रीलंका के प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे भी शामिल होंगे।

ढाका ट्रिब्यून की रिपोर्ट ने मोमिन के हवाले से बताया कि पीएम मोदी की इस यात्रा के दौरान बांग्लादेश और भारत के बीच किसी अनसुलझे द्विपक्षीय मुद्दों को लेकर चर्चा नहीं होगी। हम खुश हैं कि पीएम मोदी यहां आ रहे हैं। यह राजनयिक परिपक्वता और उपलब्धि को दर्शाता है।

उन्होंने कहा, कोरोना संकट के बीच पीएम मोदी की यह पहली विदेश यात्रा है। अन्य देशों के नेता केवल ढाका ही जाते थे लेकिन पीएम मोदी देश के अन्य हिस्सों में भी जाएंगे। बांग्लादेश के मुख्य सूचना अधिकारी सूरथ कुमार सरकार ने बताया कि स्वतंत्रता समारोह में हिस्सा लेने के लिए सबसे पहले मालदीव के राष्ट्रपति अपने तीन दिवसीय दौरे पर 17 मार्च को पहुंचेंगे।

इसके बाद श्रीलंकाई पीएम राजपक्षे दो दिवसीय दौरे पर 19 मार्च को, नेपाली राष्ट्रपति भंडारी दो दिवसीय दौरे पर 22 मार्च को, जबकि भूटान के पीएम लोते सेरिंग 24 मार्च को दो दिवसीय दौरे पर ढाका पहुंचेंगे।

हिंदू मंदिरों का भी दौरा करेंगे
रिपोर्ट के मुताबिक, मोदी 26 मार्च को ढाका पहुंचेंगे। अगले दिन वह सतखिरा और गोपालगंज के ओरकंडी में हिंदू मंदिरों का दौरा करेंगे। वह बंगबंधु शेख मुजीर्बुर रहमान की तुंगियापारा स्थित कब्र पर सम्मान प्रदर्शित करने जाएंगे।

पीएम मोदी पिछले साल बंगबंधु के जन्म शताब्दी समारोह में शामिल होने वाले थे, लेकिन कोरोना वायरस महामारी के कारण उनकी यात्रा रद्द हो गई थी। इससे पहले 9 मार्च को पीएम मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से भारत और बांग्लादेश के बीच मैत्री सेतु का उद्घाटन किया था।

विस्तार

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बांग्लादेश के स्वतंत्रता दिवस की स्वर्ण जयंती समारोह में शामिल होंगे। पीएम मोदी 26 मार्च को अपने दो दिवसीय दौरे पर बांग्लादेश की राजधानी ढाका पहुंचेंगे। वह यहां बांग्लादेश की 50वीं स्वतंत्रता वर्षगांठ के कार्यक्रम के साथ-साथ बंगबंधु शेख मुजीबुर्रहमान की जयंती पर होने वाले समारोह में शामिल होंगे।

बांग्लादेश के विदेश मंत्री एके अब्दुल मोमिन ने शनिवार को यह जानकारी दी। 17 से 27 मार्च तक होने वाले इस समारोह में मालदीव के राष्ट्रपति इब्राहिम मोहम्मद स्वालेह, नेपाल की राष्ट्रपति बिद्या देवी भंडारी, भूटानी पीएम लोते सेरिंग और श्रीलंका के प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे भी शामिल होंगे।

ढाका ट्रिब्यून की रिपोर्ट ने मोमिन के हवाले से बताया कि पीएम मोदी की इस यात्रा के दौरान बांग्लादेश और भारत के बीच किसी अनसुलझे द्विपक्षीय मुद्दों को लेकर चर्चा नहीं होगी। हम खुश हैं कि पीएम मोदी यहां आ रहे हैं। यह राजनयिक परिपक्वता और उपलब्धि को दर्शाता है।

उन्होंने कहा, कोरोना संकट के बीच पीएम मोदी की यह पहली विदेश यात्रा है। अन्य देशों के नेता केवल ढाका ही जाते थे लेकिन पीएम मोदी देश के अन्य हिस्सों में भी जाएंगे। बांग्लादेश के मुख्य सूचना अधिकारी सूरथ कुमार सरकार ने बताया कि स्वतंत्रता समारोह में हिस्सा लेने के लिए सबसे पहले मालदीव के राष्ट्रपति अपने तीन दिवसीय दौरे पर 17 मार्च को पहुंचेंगे।

इसके बाद श्रीलंकाई पीएम राजपक्षे दो दिवसीय दौरे पर 19 मार्च को, नेपाली राष्ट्रपति भंडारी दो दिवसीय दौरे पर 22 मार्च को, जबकि भूटान के पीएम लोते सेरिंग 24 मार्च को दो दिवसीय दौरे पर ढाका पहुंचेंगे।

हिंदू मंदिरों का भी दौरा करेंगे

रिपोर्ट के मुताबिक, मोदी 26 मार्च को ढाका पहुंचेंगे। अगले दिन वह सतखिरा और गोपालगंज के ओरकंडी में हिंदू मंदिरों का दौरा करेंगे। वह बंगबंधु शेख मुजीर्बुर रहमान की तुंगियापारा स्थित कब्र पर सम्मान प्रदर्शित करने जाएंगे।

पीएम मोदी पिछले साल बंगबंधु के जन्म शताब्दी समारोह में शामिल होने वाले थे, लेकिन कोरोना वायरस महामारी के कारण उनकी यात्रा रद्द हो गई थी। इससे पहले 9 मार्च को पीएम मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से भारत और बांग्लादेश के बीच मैत्री सेतु का उद्घाटन किया था।

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *