दैनिक भास्कर

13 मई, 2020, 12:59 PM IST

कैलिफोर्निया। कोविद -19 के प्रकोप के कारण इतिहास के कई देशों में लॉकडाउन जारी है। ज्यादातर निजी संस्थान, मल्टीनेशनल कंपनियों के कर्मचारी इन दिनों घर से ही काम कर रहे हैं। इस दौरान वर्क फ्राॅम होम का चलन कुछ कंपनियों को इतना पंसद आ रहा है कि आने वाले दिनों में वे इसे हमेशा के लिए अपना सकते हैं। सोशल नेटवर्किंग साइट ट्विटर ने इसकी शुरुआत कर दी है। कंपनी के सीईओ जैक डोर्सी ने कहा कि उनके कर्मचारी जबतक चाहते हैं वर्क फ्रॉम होम कर सकते हैं।

कार्यालय से काम करने के लिए कर्मचारियों को नौकरी ‘विशेष’ होगी
बज़फीड की खबर के मुताबिक, सोनी के सीईओ जैक डोर्सी ने मंगलवार को अपने कर्मचारियों को ई-मेल के जरिए कहा कि महामारी खत्म होने के बाद जो कर्मचारी घर से काम करना चाहते हैं उन्हें घर से काम करने की अनुमति दी जा रही है। वे जब तक चाहते हैं घर से काम कर रहे हैं, उन्हें एक सामान्य कामकाजी दिन की तरह ही भुगतान किया जाएगा। साथ ही कंपनी ने यह भी कहा कि अगर कोई कर्मचारी कार्यालय आना चाहता है तो उसका स्वागत होगा, लेकिन उन्हें कोरोनावायरस प्रकोप को देखते हुए कुछ विशेष अवसर होंगे।

कंपनी ने कहा- सितंबर से पहले नहीं खुल सकते हैं ऑफिस

सीओओ डोर्सी ने कहा कि महामारी को देखने सितंबर से पहले हम वेब ऑफिस को कर्मचारियों के लिए नहीं खोल सकते हैं। इसके अलावा हमने इस साल दिसंबर तक सभी इवेंट को कैंसल कर दिया है। इस दौरान कोई भी व्यावसायिक यात्रा नहीं की जाएगी। उन्होंने कहा कि हम इस साल के अंत में 2021 में होने वाले इवेंट्स के बारे में प्लानिंग करेंगे।

लगभग 5,000 कर्मचारियों के लिए खुले ‘वर्क फ्रॉम होम’ का विकल्प

बता दें कि सैटेलाइट का मुख्य कार्यालय सैन फ्रान्सिको, नोकिया में है। सैन फ्रान्सिको के अलावा अटलांटा, न्यूयाॅर्क, लॉस एजेंल्स और अमेरिका के कई शहरों में भी रेडियो के दतरथ हैं। दुनिया भर के 20 देशों में सैटेलाइट के कुल 35 कार्यालय हैं। दिसंबर 2019 तक कंपनी में कुल स्थायी कर्मचारियों की संख्या 4,900 हैं। कंपनी के लगभग 5 हजार कर्मचारी अब जिन्दगीभर घर में बैठ कर काम कर रहे होंगे।

Google और Facebook के कर्मचारी दिसंबर तक वर्क फ्रॉम होम करेंगे

Google ने पहले कहा था कि उसकी वर्क फ्रॉम होम पॉलिसी 1 जून तक लागू रहेगी, लेकिन इसने अब सात महीने का इजाफा करने का फैसला किया है। वहीं, फेसबुक ने कहा है कि इसके दफ्तर में 6 जुलाई को खुल जाएगा लेकिन कर्मचारी दिसंबर के अंत तक वर्क फ्रॉम होम करते रहेंगे।

कंपनी के इस ऐलान से कर्मचारियों को कई फायदे होंगे-

  • आमतौर पर कर्मचारियों को वर्क लाइफ और पर्सनल लाइफ के बीच सामांज्स बैठाने में मुश्किलें होती हैं। लेकिन लाइफटाइम वर्क फ्राॅम होम के चलते अब यह आसान हो जाएगा। कर्मचारी घर के कामों के साथ दफ्तर का काम भी आसानी से कर सकते हैं।
  • घर से काम करने में कंपनियों के बारे में कर्मचारियों को फायदा होगा। कर्मचारियों को दफ्तर में मिलने वाली सुविधाओं, पानी, बिजली बिल, किराए सहित कंपनी के अतिरिक्त खर्च बचेंगे। वहीं, कर्मचारियों के दफ्तर पहुंचने से लेकर अन्य एक्ट मनीज पर होने वाले खर्च के पैसे बचेंगे।
  • एक स्टडी के मुताबिक, दफ्तर के मुकाबले कर्मचारी घर से ज्यादा बेहतर काम करते हैं। दफ्तर में कर्मचारी ब्रेक ज्यादा लेते हैं। वहीं, वर्कफ्रैम होम में महीने में 1.4 दिन ज्यादा काम कर रहे हैं। प्रचंडता भी बढ़ी है।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *