बीजिंग: पूरी दुनिया को कोरोना महामारी (कोरोनावायरस) में झोंकने वाले चीन की मुश्किलें फिर बढ़ती नजर आ रही हैं। उत्तर कोरिया की सीमा से लगे चीन के शुलान (शूलन) शहर में कोरोना के 11 नए मामले सामने आये हैं। यह देखता है कि सरकार ने मंगल ला लागू कर दिया है। ग्लोबल टाइम्स के मुताबिक, सभी पीड़ित एक लवलंदीवुमन के संपर्क में आने से चेष्टा हुई।

कम्युनिस्ट पार्टी के जिलिन प्रांतीय समिति के सचिव बाईन चाओलू (बायिन चोलू) ने बताया कि शुलान में बढ़ते खतरे को देखते हुए मंगल लॉड गया है। उन्होंने कहा कि शुलान में क्लस्टर संक्रमण से लोगों को काफी खतरा हो सकता है और यह वायरस से निपटने के प्रयासों में कमी को दर्शाता है। स्थानीय मीडिया का दावा है कि उचित उपाय नहीं करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। गौरतलब है कि कोरोना के मामले खत्म होने के बाद चीन ने सामान्य गतिविधियों को शुरू कर दिया है। लेकिन शुलान से आ रही खबरों ने उसकी परेशानी बढ़ा दी है।

बढ़ते खतरे के मद्देनजर शुलान में लॉकडाउन को जारी रखा गया है और गांवों को भी इसके जद में लाया गया है। यहां आने वाले लोगों को कड़ी नजर रखने की जरूरत है। साथ ही स्थानीय निवासियों के लिए केवल एक ही एंट्री पॉइंट खोला गया है। इसके अलावा, हर परिवार से केवल एक ही व्यक्ति को प्रतिदिन आवश्यक सामान खरीदने के लिए घर से बाहर निकलने की अनुमति है।

एहतियात के तौर पर 630,000 की आबादी वाले शुलान से चलने या वहाँ जाने वालीं सभी रेलगाड़ियों को अगले आदेश तक बंद कर दिया गया है। साथ ही सार्वजनिक परिवहन सेवाओं को रोक दिया गया है। किसी भी टैक्सी को शहर छोड़ने की अनुमति नहीं है। वहीं, हुबेई प्रांत में भी कल एक नए मामले की पुष्टि हुई है, जिसके साथ ही देश में कोरोना के नए मामलों की संख्या 14 हो गई है। चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग (NHC) का कहना है कि इन 14 में से 12 मामलों में संक्रमण स्थानीय स्तर पर ही फैला है।

चीन में सामने आ रहे नए मामलों से कोरोना के फिर से हमला करने की आशंका को बल मिला है। सबसे ज्यादा डराने वाली बात यह है कि चीन में कई ऐसे मामले भी उजागर हुए हैं, जहां पीड़ितों में कोरोना के कोई लक्षण नहीं थे। शनिवार को ही ऐसे 20 मामले दर्ज किए गए हैं।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *