• रिचर्ड का जन्म दिसंबर 1932 में जॉर्जिया में हुआ था, उनका पूरा नाम रिचर्ड पेन्निमन था
  • उन्होंने भाई-बहनों से अलग दिखने के लिए गाने की शुरुआत की थी

दैनिक भास्कर

10 मई, 2020, 04:34 AM IST

वॉशिंगटन। मशहूर संगीतकार और गायक लिल रिचर्ड का शनिवार को निधन हो गया। वे 87 साल के थे। रिचर्ड लंबे समय से बीमार थे। उनके कर्बी ने बताया कि रिचर्ड की मौत बोन कैंसर से हुई थी। वे इन दिनों अमेरिका के टुल्लाहोमा शहर में रह रहे थे। फैन्स उनके पियानो बजाने के अंदाज के दीवाने थे। इसके अलावा उनकी हा स्टाइल और पहनावा काफी पसंद किया गया था।

लिल रिचर्ड का जन्म जॉर्जिया (अमेरिका) में दिसंबर 1932 में हुआ था। उनका पूरा नाम रिचर्ड पेन्नीमन था। उनके पिता धर्मगुरु थे। उन्होंने भाई-बहनों से अलग दिखने के लिए गाने की शुरुआत की थी। पिता इससे खुश नहीं थे, इसलिए कम उम्र में ही रिचर्ड ने घर छोड़ दिया। जीवन के अंतिम दौर में कई वर्षों तक उन्हें स्वास्थ्य संबंधी परेशानियों से जूझना पड़ा। उन्हें एक बार हार्ट अटैक भी आया था।

1955 के बाद स्टार बन गए थे रिचर्ड
रिचर्ड का करियर 1940 के दशक में शुरू हुआ था। पहले तो वह छोटी-मोटी रिकॉर्डिंग ही करते रहे, लेकिन 1955 में उन्हें टूटी फ्रूटी, लॉन्ग टाल सैली और गुडली मिस मौली से प्रसिद्धी मिली। इस सॉन्ग ने उन्हें दुनिया के कई देशों में स्टार बना दिया। इनकी 3 करोड़ से ज्यादा संख्या में जानें बायसी थीं। 1986 में रिचर्ड ने रॉक एंड रोल हॉल ऑफ फेम में एंट्री की थी।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed