वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला, इस्लामाबाद
Updated Mon, 08 Jun 2020 07:07 AM IST

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर Free में
कहीं भी, कभी भी।

70 वर्षों से करोड़ों पाठकों की पसंद

ख़बर सुनें

पाकिस्तान में कोरोना वायरस के मामले एक लाख के करीब पहुंच गए हैं, जबकि मृतकों की संख्या दो हजार को पार कर गई है। इस बीच, प्रधानमंत्री इमरान खान ने देश में सख्त पाबंदियों को लागू करने से साफ इनकार कर दिया है। इमरान ने कहा कि इस फैसले से अर्थव्यवस्था का बंटाधार हो जाएगा और गरीबी बढ़ेगी।

राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, बीते 24 घंटे में कोरोना वायरस के 4,960 नए केस सामने आए हैं, जिसके बाद संक्रमण के कुल मामले 98,934 हो गए हैं। वहीं 67 और लोगों की मौत के बाद मरने वालों की संख्या 2,002 हो गई है। मंत्रालय ने कहा कि अब तक 33,465 लोग स्वस्थ हो चुके हैं। पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में 37,090, सिंध में 36,364 , खैबर पख्तूनख्वा में 13,001, बलूचिस्तान में 6,221, इस्लामाबाद में 4,979, गिलगिट-बाल्टिस्तान में 927 तथा पीओके में 361 मामले सामने आए हैं।

एक्सप्रेस ट्रिब्यून के मुताबिक, पीएम ने कहा कि महामारी की गंभीरता को लेकर जागरूक करने की आवश्यकता है। उन्होंने सख्त पाबंदियों फिर से लागू करने के बजाय मानक संचालन प्रक्रियाओं के साथ स्मार्ट लॉकडाउन की वकालत की। इस मामले में इमरान ने ट्वीट किया, कुलीन वर्ग के कुछ लोग लॉकडाउन चाहते हैं, जिनके पास बड़े-बड़े घर हैं। इन लोगों की आय लॉकडाउन से प्रभावित नहीं होती, लेकिन गरीबों पर इसका सीधा असर होता है।

पाकिस्तान में कोरोना वायरस के मामले एक लाख के करीब पहुंच गए हैं, जबकि मृतकों की संख्या दो हजार को पार कर गई है। इस बीच, प्रधानमंत्री इमरान खान ने देश में सख्त पाबंदियों को लागू करने से साफ इनकार कर दिया है। इमरान ने कहा कि इस फैसले से अर्थव्यवस्था का बंटाधार हो जाएगा और गरीबी बढ़ेगी।

राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, बीते 24 घंटे में कोरोना वायरस के 4,960 नए केस सामने आए हैं, जिसके बाद संक्रमण के कुल मामले 98,934 हो गए हैं। वहीं 67 और लोगों की मौत के बाद मरने वालों की संख्या 2,002 हो गई है। मंत्रालय ने कहा कि अब तक 33,465 लोग स्वस्थ हो चुके हैं। पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में 37,090, सिंध में 36,364 , खैबर पख्तूनख्वा में 13,001, बलूचिस्तान में 6,221, इस्लामाबाद में 4,979, गिलगिट-बाल्टिस्तान में 927 तथा पीओके में 361 मामले सामने आए हैं।

एक्सप्रेस ट्रिब्यून के मुताबिक, पीएम ने कहा कि महामारी की गंभीरता को लेकर जागरूक करने की आवश्यकता है। उन्होंने सख्त पाबंदियों फिर से लागू करने के बजाय मानक संचालन प्रक्रियाओं के साथ स्मार्ट लॉकडाउन की वकालत की। इस मामले में इमरान ने ट्वीट किया, कुलीन वर्ग के कुछ लोग लॉकडाउन चाहते हैं, जिनके पास बड़े-बड़े घर हैं। इन लोगों की आय लॉकडाउन से प्रभावित नहीं होती, लेकिन गरीबों पर इसका सीधा असर होता है।

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *