नई दिल्ली: इमरान खान (इमरान खान) ने जब पाकिस्तान (पाकिस्तान) की बागडोर संभाली है तब से पाकिस्तान दिन दोगुनी रात चौगुनी बाधाओं से बर्बादी की तरफ बढ़ रहा है। इमरान खान बड़े-बड़े वादे करके सत्ता में तो आए। लेकिन हर मोर्चे पर नाकाम रहे। ऐसे में कोरोना काल इमरान सरकार के ताबूत में आखिरी कील साबित हो रहा है। इमरान खान डरे हुए नजर आ रहे हैं। एक दो नहीं बल्कि ऐसे पांच खौफ हैं जो इमरान खान की नीदें उड़ा दी हैं। इमरान खान की सत्ता खतरे में है। इकोनॉमी बर्बाद हो चुका है और अब तो पाकिस्तान के एटम बम को भी खतरे में बताया जा रहा है।

कोरोना (कोरोनावायरस) काल पूरी दुनिया पर भारी पड़ रहा है। लेकिन नापाक मुल्क पाकिस्तान के प्रधानमंत्री के लिए कोरोना काल किसी बुरे सपने से कम नहीं। एक ऐसा सपना जो जागते सोते हमेशा उन्हें बेचैन रखता है। कोरोना को पाकिस्तान संभाल नहीं पा रहा और रही सही परेशानी पाकिस्तान की नापाक हरकतों के बाद सख्त हुए हिंदुस्तान ने बढ़ा दी है। जिसकी वजह से इमरान खान खौफ में हैं।

ये इमरान खान के उन पांच खौफ हैं जिन्होंने उनकी नींद उड़ा दी है
– कोरोना से तबाही
– इकोनॉमी को पूरा करें
– भरत का हमला
– पसनेगा ईटम बम?
– तखतपाल नामित संग बाजवा

पाकिस्तान में कोरोना से संक्रमण और मरने वालों की संख्या लगातार बढ़ रही है। इमरान के लॉकडाउन खोलने के फैसले के बाद कोरोना संक्रमण बेहद खतरनाक हो जाएगा। पाकिस्तान में पहले से बर्बाद इकोनॉमी अब पूरी तरह से बर्बाद हो चुका है। भारत में आतंकी हमलों के बाद इमरान खान को भारत के बड़े हमले का डर सता रहा है। इमरान के पूर्व साथी जावेद मियांदाद ने डर जाहिर किया है कि मुल्क का एटम बम छिन होगा और जिस तरह से इमरान खान कोरोना काल में फेल साबित हुए हैं। फौज इमरान खान को सत्ता से बाहर भी कर सकती है।

ये भी पढ़ें- सेना से बिगड़ते रिश्तों पर इमरान खान के मंत्री ने दी सफाई, PM मोदी की पीठ थपथपाई

कोरोना तो पाकिस्तान के लिए बड़ी मुसीबत साबित ही हो रही है लेकिन इमरान खान को बड़ा खौफ इस बात का सता रहा है कि कहीं आतंकी हमलों से नाराज भारत पाकिस्तान से बालाकोट से बड़ा बदला न ले ले। इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पोखरण में हुए परमाणु परीक्षण को याद करके कहा कि कुछ लोगों ने इमरान खान की चिंता की और बढ़ गए।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है- 1998 में पोखरण परीक्षण ने यह भी दिखाया कि एक मजबूत राजनीतिक नेतृत्व किस तरह का मामला ला सकता है।

इमरान खान को सबसे अधिक खतरा भारत के इसी नेतृत्व से है जो पाकिस्तान को घर में घुसकर सबक सिखाने को तैयार है। सिर्फ इमरान खान ही क्यों पूरे पाकिस्तान को न्यू इंडिया से डर लगता है। यही कारण है कि जम्मू-कश्मीर में आतंकवादी हमलों और भारत की कार्रवाई में हिजबुलंदरर रियाज आकू के मारे जाने के बाद पाकिस्तान ने आसमान में गश्त बढ़ा दी है। कहीं भारत बड़ा हमला न कर दे।

लेकिन पाकिस्तान को सिर्फ भारत के हमले का डर नहीं सता रहा है। पाकिस्तान को इस बात का डर भी सता रहा है कि कहीं कोई एटम बम पर वो इतराता है कि उससे छिन न हो और ये डर सामने आया है पूर्व क्रिकेटर जावेद मियांदाद के बयान से।

पाकिस्तान के पूर्व कप्तान जावेद मियांदाद के मुताबिक, मुल्क पर बढ़ते कर्ज की वजह से उसके एटमी हथियार खतरे में हैं। अगर पाकिस्तान आईएमएफ जैसे संगठनों का कर्ज नहीं चुकाया तो वो हमारा एटम बम ले जाएगा। इतना ही नहीं, मियांदाद ने इन कर्जों को चुकाने के लिए एक बैंक खाता भी खोला लिया है और इसमें लोगों से पैसे जमा करने की अपील की है।

मियांदाद ने शनिवार रात सैटेलाइट पर एक वीडियो ट्वीट कर अपना प्लान बताया है। उन्होंने कहा, ‘मैंने नेशनल बैंक ऑफ पाकिस्तान में एक खाता खोला है। मैं आप लोगों से भीख मांगता हूं कि इसमें पैसा जमा करें ताकि हमारा एटम बम संभव हो सके। अगर हमने आईएमएफ जैसे आयोजनों का कर्ज नहीं लौटाया तो वह इस बम को ले जाएंगे। मैं जानता हूं कि इस देश के लोगों ने अपने ही मुल्क को खूब लूटा है। अब जब वह मुझे भीख देगा अपने पापों का प्रायोजन कर सकता है। विदेश में रहने वाले पाकिस्तानी भी अब फर्ज खेलते हैं। ‘

ये भी देखें-

मियांदाद यहीं नहीं रूके वीडियो में वह आगे कहते हैं, ‘मेरा नया खाता इंटरनेशनल है और इसका इस्तेमाल सिर्फ मैं करूंगा। हम आईएमएफ का कर्ज चुका चुके हैं। लोग हर महीने इसमें पैसा डिपॉजिट करें। हमारे ऊपर पहले ही बहुत कर्ज है। अगर अब हम आईएमएफ से कर्ज लेने जाएंगे तो वह सबसे पहले हमारे एटमी हथियारों यानी हमारे बम की मांग करेगा। यह बचाना है तो उनका पैसा वापस करना होगा। इसके लिए मैं आपसे भीख माँग रहा हूँ। ‘

क्लीन है इमरान खान के साथ-साथ पूरा पाकिस्तान में इस वक्त खौफ में चल रहा है और इमरान खान के पास अपने और अपने मुल्क के लोगों के इस खौफ को खत्म करने का कोई तरीका नहीं है।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *