वनडे-टी 20 क्रिकेट खेलने लायक नहीं अश्विन!

रविचंद्रन अश्विन (रविचंद्रन अश्विन) काफी समय से टीम इंडिया की वनडे और टी 20 टीम से बाहर हैं, वो बस टेस्ट फॉर्मेट में ही खेलते हैं।

नई दिल्ली। 9 जुलाई 2017 ये तारीख है जब ऑफ स्पिनर आर अश्विन (आर अश्विन) आखिरी बार टीम इंडिया की नीली जर्सी में दिखे थे। पिछले तीन वर्षों से ये खिलाड़ी भारत के लिए वनडे और टी 20 फॉर्मेट में नहीं खेले। इस बारे में पाकिस्तान के पूर्व लेग स्पिनर मुश्ताक अहमद ने इशारों ही इशारों में कहा है कि आर्विन की गेंदबाजी में इतनी दम ही नहीं थी, इसलिए वे इन दो फॉर्मेट में नहीं खेल रहे हैं।

मुश्ताक अहमद का बड़ा बयान

रविचंद्रनवरिन और नाथन लायन जैसे विश्व स्तरीय टेस्ट गेंदबाज सीमित ओवरों में उस सफलता को नहीं दोहरा सके और पाकिस्तान के पूर्व लेग स्पिनर मुश्ताक अहमद (मुश्ताक अहमद) का मानना ​​है कि एसपीटी पिचों पर ‘विविधता के अभाव’ के कारण ऐसा हुआ है। अश्विन ने 71 टेस्ट में 365, लायन ने 96 टेस्ट में 390 और पाकिस्तान के यासिर शाह ने 39 टेस्ट में 213 विकेट लिए हैं। वनडे और टी 20 में हालांकि वह इस सफलता को संभव नहीं है।

मुश्ताक ने पीटीआई को बनाया इंटरव्यू में कहा, ‘युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव को देखो। दोनों ने सफेद गेंद से भारत को कई मैच जिताये हैं। लायन, अश्विन (आर अश्विन) और यासिर की गेंदों में शायद वनडे क्रिकेट के लायक विविधता ही नहीं थी। ‘ इंग्लैंड सहित दुनिया भर में कोचिंग कर चुके मुश्ताक का मानना ​​है कि टेस्ट और सीमित ओवरों के स्पिनरों को अलग-अलग करना होगा। उन्होंने कहा, ‘स्पिनरों के लिए सबसे बड़ी चुनौती टेस्ट क्रिकेट है जहां उनकी प्रतिभा की असली पहचान होती है। ओरसिर शाह, नथन लायन, मोईन अली, अश्विन जैसे गेंदबाजों का टेस्ट क्रिकेट में योगदान अपार है।वनडे और टी 20 में अमीरी गेंदबाजों की जरूरत

मुश्ताक अहमद ने कहा, ‘कुछ स्पिनर वनडे क्रिकेट में भी सफल रहे हैं लेकिन बदले हुए नियमों के साथ क्रिकेट अब बदल गया है ।ऐसे में स्पिनर स्पिनर और कलाई के स्पिनर अधिक प्रभावी हो गए हैं। इनमें आदिल रशीद, एडम जाम्पा, चहल, यादव और शादाब खान शामिल हैं। ‘ मुश्ताक ने कहा, ‘आजकल क्रिकेट खेला जा रहा है कि अलग प्रारूप के लिए अलग अलग स्पिनर होने चाहिए। आप पांच छह स्पिनरों को चुनकर उन्हें अलग प्रारूप में इस्तेमाल कर सकते हैं। इससे उनका कर्ता भी बहुत प्रभावित होगा। ‘ उन्होंने कहा कि लायन और अश्विन दोनों सकलैन मुश्ताक और मुथैया मुरलीधरन के मार्गदर्शन के गेंदबाज हैं लेकिन वनडे क्रिकेट के अनुकूल नहीं हैं।

सहवाग से भी मंदानी आगंतुक, सिर्फ 330 मिनट में ठोकते हैं 333 रन!

बनाए लगभग 10 हजार रन, झटके 791 विकेट, आज दुकान चलाकर परिवार का पेट पाल रहा है ये खिलाड़ी

News18 हिंदी सबसे पहले हिंदी समाचार हमारे लिए पढ़ना यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर । फोल्ट्स। देखिए क्रिकेट से संलग्न लेटेस्ट समाचार।

प्रथम प्रकाशित: 7 मई, 2020, 10:08 PM IST


इस दिवाली बंपर अधिसूचना
फेस्टिव सीजन 75% की एक्स्ट्रा छूट। सिर्फ 289 में एक साल के लिए सब्सक्राइब करें करें मनी कंट्रोल प्रो।कोड कोड: DIWALI ऑफ़र: 10 नवंबर, 2019 तक

->





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *