विश्व डेस्क, अमर उजाला, काठमांडू
अपडेटेड थू, 07 मई 2020 07:39 PM IST

ख़बर सुनता है

नेपाल में शुक्रवार से शुरू होने वाले संसद के बजट सत्र के लिए सभी जन अधिकार की को विभाजित -19 की जांच करवाई जा रही है। नेपाल के दोनों सदनों के सदस्यों के सैंपल के बारे में उसे पॉलिमिराज चेन फाइनेंस (पीसीआर) तकनीक के जरिये जांच के लिए भेजा गया है।

ये जांच नए बानेश्वर में फेडरल पार्लियामेंट बॉल में की जा रही है। बजट सत्र को सुरक्षित और सुचारू तरीके से चलाने के लिए तमाम एहतियाती कदम उठाए जा रहे हैं।

बजट सेशन के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग के अलावा दूसरे सुरक्षा उपाय किए जा रहे हैं। इसके तहत सभी सदस्यों और कर्मचारियों को संसद में जाने से पहले तमाम जरूरी स्वास्थ्य चेकअप से होकर गुजरना होगा।

प्रधानमंत्री के पी शर्मा ओली के स्वास्थ्य को देखते हुए उनकी जांच और परीक्षण के लिए विशेष व्यवस्थाजाम किए गए हैं। हाल ही में ओली के किडनी ट्रांसप्लांट का दूसरा ऑपरेशन भी हुआ था।

एक तरफ सांसदों और जनप्रतिनिधियों के निरीक्षण जांच परीक्षण के इंतजाम में कोई काम नहीं छोड़ी जा रही है, जबकि तमाम ऐसे इलाके हैं जहां अभी तक पर्याप्त स्वास्थ्य किट और सुरक्षा उपकरण भी नहीं हैं।

तमाम ऐसे जिले हैं जहां मेडिकल स्टाफ से लेकर कोविड -19 से लड़ने के लिए न तोस्क रह रह, न पीसीबीई किट और न ही दवाओं और जांच की व्यवस्था, इससे वहां संक्रमण फैलने का खतरा लगातार बढ़ रहा है।

चितवन में कोविड -19 टेस्टिंग रिलायंस ने पर्याप्त सुविधाएं और उपकरण न होने की वजह से काम करने बंद कर दिया है। जापान के मुताबिक सरकार के पास 1200 टेस्ट किट के लिए आवेदन किया गया है, लेकिन अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है।

इसी तरह की करनाली प्रांत में भी सुविधाएं और किट न होने की वजह से जांच और इलाज संभव नहीं हो पा रहा है और मामले लगातार बढ़ रहे हैं।

सार

  • संसद में जाने से पहले सभी को पूरी -19 की जांच, पीएम पर विशेष ध्यान देना होगा
  • नेपाल के बाकी इलाके में टेस्ट किट नॉट, ट्रांसफर के मामले लगातार तेज होते जा रहे हैं

विस्तार

नेपाल में शुक्रवार से शुरू होने वाले संसद के बजट सत्र के लिए सभी जन अधिकार की को विभाजित -19 की जांच करवाई जा रही है। नेपाल के दोनों सदनों के सदस्यों के सैंपल के बारे में उसे पॉलिमिराज चेन फाइनेंस (पीसीआर) तकनीक के जरिये जांच के लिए भेजा गया है।

ये जांच नए बानेश्वर में फेडरल पार्लियामेंट बॉल में की जा रही है। बजट सत्र को सुरक्षित और सुचारू तरीके से चलाने के लिए तमाम एहतियाती कदम उठाए जा रहे हैं।

बजट सेशन के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग के अलावा दूसरे सुरक्षा उपाय किए जा रहे हैं। इसके तहत सभी सदस्यों और कर्मचारियों को संसद में जाने से पहले तमाम जरूरी स्वास्थ्य चेकअप से होकर गुजरना होगा।

प्रधानमंत्री के पी शर्मा ओली के स्वास्थ्य को देखते हुए उनकी जांच और परीक्षण के लिए विशेष व्यवस्थाजाम किए गए हैं। हाल ही में ओली के किडनी ट्रांसप्लांट का दूसरा ऑपरेशन भी हुआ था।

एक तरफ सांसदों और जनप्रतिनिधियों के निरीक्षण जांच परीक्षण के इंतजाम में कोई काम नहीं छोड़ी जा रही है, जबकि तमाम ऐसे इलाके हैं जहां अभी तक पर्याप्त स्वास्थ्य किट और सुरक्षा उपकरण भी नहीं हैं।

तमाम ऐसे जिले हैं जहां मेडिकल स्टाफ से लेकर कोविड -19 से लड़ने के लिए न तोस्क रह रह, न पीसीबीई किट और न ही दवाओं और जांच की व्यवस्था, इससे वहां संक्रमण फैलने का खतरा लगातार बढ़ रहा है।

चितवन में कोविड -19 टेस्टिंग रिलायंस ने पर्याप्त सुविधाएं और उपकरण न होने की वजह से काम करने बंद कर दिया है। जापान के मुताबिक सरकार के पास 1200 टेस्ट किट के लिए आवेदन किया गया है, लेकिन अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है।

इसी तरह की करनाली प्रांत में भी सुविधाएं और किट न होने की वजह से जांच और इलाज संभव नहीं हो पा रहा है और मामले लगातार बढ़ रहे हैं।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *