विश्व डेस्क, अमर उजाला, काठमांडू
अपडेटेड मैट, 06 मई 2020 11:27 PM IST

ख़बर सुनता है

नेपाल ने भी अपने देश में लॉकडाउन 18 मई तक बढ़ा दिया है। सभी अंतर्राष्ट्रीय उड़ानें भी 31 मई तक बंद रहेंगी। नेपाल ने भारत की तरह लॉकडाउन में किसी भी तरह की रियायत देने या इसे जोन में बांटने के प्रस्ताव को पूरी तरह खारिज कर दिया।)

कोविद -19 नियंत्रण के लिए बनाई गई उच्चस्तरीय समन्वय समिति की बैठक की शीर्ष करते हुए नेपाल के प्रधानमंत्री के पी शर्मा ओली ने साफ तौर पर कहा कि अभी भारत से लगे हुए सीमाई क्षेत्रों में को विभाजित -19 काone बहुत ज्यादा है। यहां से संक्रमण नेपाल आने की बहुत आशंका है। ऐसे में किसी भी तरह का जोखिम मोल लेना ठीक नहीं है।

बैठक में लॉकडाउन का और सख्ती से पालन करवाने और लोगों में घर में ही रहने की जागरूकता पैदा करने के तरीकों पर भी विचार किया गया है। 24 मार्च से चल रहे लॉकडाउन के तहत आने वाली परेशानियों के साथ साथ अबतक की स्थितियों पर समीक्षा भी की गई और इसे बढ़ाने के अलावा वर्तमान में किसी और विकल्प पर कोई चर्चा नहीं हुई।

पर्यटन, नागरिक उड्डयन और संस्कृति मंत्री योगेश भट्टराई के साथ बैठक में यह प्रस्ताव भी आया कि भारत की ही तरह ग्रीन, ऑर्डिन एंड रेड ज़ोन मेकर लॉकडाउन धीरे धीरे खुलने की प्रक्रिया शुरू की जाए, लेकिन प्रधानमंत्री ओली ने सफाई से कहा कि इसके लिए अभी तक सही नहीं है। भारत में को विभाजित -19 के मामले लगातार बढ़ रहे हैं और वहाँ यह प्रयोग अभी तक सफल नहीं हुआ है, इसलिए अभी पूरी तरह से लॉकडाउन ही एकमात्र रास्ता है।

नेपाल ने भी अपने देश में लॉकडाउन 18 मई तक बढ़ा दिया है। सभी अंतर्राष्ट्रीय उड़ानें भी 31 मई तक बंद रहेंगी। नेपाल ने भारत की तरह लॉकडाउन में किसी भी तरह की रियायत देने या इसे जोन में बांटने के प्रस्ताव को पूरी तरह खारिज कर दिया।)

कोविद -19 नियंत्रण के लिए बनाई गई उच्चस्तरीय समन्वय समिति की बैठक की शीर्ष करते हुए नेपाल के प्रधानमंत्री के पी शर्मा ओली ने साफ तौर पर कहा कि अभी भारत से लगे हुए सीमाई क्षेत्रों में को विभाजित -19 काone बहुत ज्यादा है। यहां से संक्रमण नेपाल आने की बहुत आशंका है। ऐसे में किसी भी तरह का जोखिम मोल लेना ठीक नहीं है।

बैठक में लॉकडाउन का और सख्ती से पालन करवाने और लोगों में घर में ही रहने की जागरूकता पैदा करने के तरीकों पर भी विचार किया गया है। 24 मार्च से चल रहे लॉकडाउन के तहत आने वाली परेशानियों के साथ साथ अबतक की स्थितियों पर समीक्षा भी की गई और इसे बढ़ाने के अलावा वर्तमान में किसी और विकल्प पर कोई चर्चा नहीं हुई।

पर्यटन, नागरिक उड्डयन और संस्कृति मंत्री योगेश भट्टराई के साथ बैठक में यह प्रस्ताव भी आया कि भारत की ही तरह ग्रीन, ऑर्डिन एंड रेड ज़ोन मेकर लॉकडाउन धीरे धीरे खुलने की प्रक्रिया शुरू की जाए, लेकिन प्रधानमंत्री ओली ने सफाई से कहा कि इसके लिए अभी तक सही नहीं है। भारत में को विभाजित -19 के मामले लगातार बढ़ रहे हैं और वहाँ यह प्रयोग अभी तक सफल नहीं हुआ है, इसलिए अभी पूरी तरह से लॉकडाउन ही एकमात्र रास्ता है।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *