नेपाल का झंडा
– फोटो : सोशल मीडिया

ख़बर सुनें

दक्षिण-पूर्वी नेपाल के लाहान जिले के सिराहा में रविवार को खचाखच भरे सरकारी कार्यालय में ‘प्रेशर कुकर बम’ फटने से कम से कम आठ लोग घायल हो गए। मीडिया में आईं खबरों में यह जानकारी दी गई है। ‘द काठमांडू पोस्ट’ समाचार पत्र ने सहायक मुख्य जिला अधिकारी कृष्ण कुमार निरौला के हवाले से कहा कि बम भूमि राजस्व कार्यालय के प्रथम तल पर फटा।

समाचार पत्र के अनुसार, धमाके में कम से कम आठ कर्मचारी घायल हो गए, जिसमें पांच पुरुष और तीन महिलाएं शामिल हैं। डीएसपी तपन दहल ने कहा, ‘गंभीर रूप से घायल तीन लोगों का लाहान के सप्तऋषि अस्पताल में इलाज चल रहा है जबकि अन्य घायलों के लाहान अस्पताल में भर्ती कराया गया है।’

‘माय रिपब्लिका’ समाचार पत्र के अनुसार जय कृष्ण गोइत की अगुवाई वाले सशस्त्र संगठन जनतांत्रिक तराई मुक्ति मोर्चा (क्रांतिकारी) ने धमाके की जिम्मेदारी लेते हुए कहा है कि यह भ्रष्टाचार के खिलाफ संगठन के अभियान का हिस्सा है। घटना के कुछ घंटे बाद जारी एक बयान में संगठन ने कहा, ‘हमने भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई के तौर पर दोपहर 12 बजकर 47 मिनट पर प्रेशर कुकर में बम लगाया था।’

बयान में कहा गया है कि अगर भ्रष्टाचार चलता रहा तो और कड़ी कार्रवाई की जाएगी और नेपाल सरकार तथा प्रांतीय सरकार इसके लिये जिम्मेदार होंगी। जनतांत्रिक तराई मुक्ति मोर्चा भारत की सीमा से लगे मैदानी तराई इलाकों के लोगों को वृहद राजनीतिक और आर्थिक अधिकार देने की मांग करता है।

दक्षिण-पूर्वी नेपाल के लाहान जिले के सिराहा में रविवार को खचाखच भरे सरकारी कार्यालय में ‘प्रेशर कुकर बम’ फटने से कम से कम आठ लोग घायल हो गए। मीडिया में आईं खबरों में यह जानकारी दी गई है। ‘द काठमांडू पोस्ट’ समाचार पत्र ने सहायक मुख्य जिला अधिकारी कृष्ण कुमार निरौला के हवाले से कहा कि बम भूमि राजस्व कार्यालय के प्रथम तल पर फटा।

समाचार पत्र के अनुसार, धमाके में कम से कम आठ कर्मचारी घायल हो गए, जिसमें पांच पुरुष और तीन महिलाएं शामिल हैं। डीएसपी तपन दहल ने कहा, ‘गंभीर रूप से घायल तीन लोगों का लाहान के सप्तऋषि अस्पताल में इलाज चल रहा है जबकि अन्य घायलों के लाहान अस्पताल में भर्ती कराया गया है।’

‘माय रिपब्लिका’ समाचार पत्र के अनुसार जय कृष्ण गोइत की अगुवाई वाले सशस्त्र संगठन जनतांत्रिक तराई मुक्ति मोर्चा (क्रांतिकारी) ने धमाके की जिम्मेदारी लेते हुए कहा है कि यह भ्रष्टाचार के खिलाफ संगठन के अभियान का हिस्सा है। घटना के कुछ घंटे बाद जारी एक बयान में संगठन ने कहा, ‘हमने भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई के तौर पर दोपहर 12 बजकर 47 मिनट पर प्रेशर कुकर में बम लगाया था।’

बयान में कहा गया है कि अगर भ्रष्टाचार चलता रहा तो और कड़ी कार्रवाई की जाएगी और नेपाल सरकार तथा प्रांतीय सरकार इसके लिये जिम्मेदार होंगी। जनतांत्रिक तराई मुक्ति मोर्चा भारत की सीमा से लगे मैदानी तराई इलाकों के लोगों को वृहद राजनीतिक और आर्थिक अधिकार देने की मांग करता है।

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *