अमर उजाला, नई दिल्ली

द्वारा प्रकाशित: सुशील कुमार
अपडेट किया गया शनिवार, 27 नवंबर 2021 03:07 AM IST

सर

संस्था के अध्यक्ष अध्यक्ष डॉ. कुमार का कहना है कि अगर इस पर कोई फैसला नहीं लिया गया तो यह वैसी ही स्थिति में बदल जाएगा।

खबर

नीट के विपरीत स्थिति में भी मौसम के प्रभाव में ऑक्सफ़ोर्ड होता है। शुक्रवार को अलग-अलग-अलग-अलग तारीखों की घोषणा की गई थी, जब सफ़दरजंग में, आरफ़ और लाड हार्डिंग डॉक्टर ने 27 नवंबर को मौसम की शुरुआत की थी।

दिल्ली के कर्नाटक, महाराष्ट्र, राजस्थान, मध्य प्रदेश, राज्य में वैसी स्थिति में भी वैसी ही स्थिति होती है। इवेंट में भी शामिल होने की सूचना दी गई थी।

ऐल ऑफ इंडिया मेडिकल (फेमामा) के अध्यक्ष डॉ. रोहन कृष्णन ने आगे बढ़ाया। केंद्र सरकार का यह पूरी तरह से गलत है। देश भर में डॉक्टर से बेहतर बच्चे हों और नियमित रूप से युवा हों। ऐसे में आगे बढ़ना गलत है। अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर निरोध प्रदर्शन शुरू हो रहा है।

… ट्वेल्व ज़ख़्त के रजीद से ओपीडी की अपील की है। वैट ऑफ रेजीडेंट डॉक्टर्स (फोर्सा) ने भी कुशल फोरसा के मामले में, देश के खतरनाक रोग खतरनाक हैं। शारीरिक और मानसिक स्थिति से राहत पाने के लिए। अब मौसम 6 2022

संस्था के अध्यक्ष अध्यक्ष डॉ. कुमार का कहना है कि अगर इस पर कोई फैसला नहीं लिया गया तो यह वैसी ही स्थिति में बदल जाएगा। 🙏

कटि

नीट के विपरीत स्थिति में भी मौसम के प्रभाव में ऑक्सफ़ोर्ड होता है। शुक्रवार को अलग-अलग-अलग-अलग तारीखों की घोषणा की गई थी, जब सफ़दरजंग में, आरफ़ और लाड हार्डिंग डॉक्टर ने 27 नवंबर को मौसम की शुरुआत की थी।

दिल्ली के कर्नाटक, महाराष्ट्र, राजस्थान, मध्य प्रदेश, राज्य में वैसी स्थिति में भी वैसी ही स्थिति होती है। इवेंट में भी शामिल होने की सूचना दी गई थी।

ऐल ऑफ इंडिया मेडिकल (फेमामा) के अध्यक्ष डॉ. रोहन कृष्णन ने आगे बढ़ाया। केंद्र सरकार का यह पूरी तरह से गलत है। देश भर में डॉक्टर से बेहतर बच्चे हों और नियमित रूप से युवा हों। ऐसे में आगे बढ़ना गलत है। अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर निरोध प्रदर्शन शुरू हो रहा है।

… ट्वेल्व ज़ख़्त के रजीद से ओपीडी की अपील की है। वैट ऑफ रेजीडेंट डॉक्टर्स (फोर्सा) ने भी कुशल फोरसा के मामले में, देश के खतरनाक रोग खतरनाक हैं। शारीरिक और मानसिक स्थिति से राहत पाने के लिए। अब मौसम 6 2022

संस्था के अध्यक्ष अध्यक्ष डॉ. कुमार का कहना है कि अगर इस पर कोई फैसला नहीं लिया गया तो यह वैसी ही स्थिति में बदल जाएगा। 🙏

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *