पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर Free में
कहीं भी, कभी भी।

70 वर्षों से करोड़ों पाठकों की पसंद

ख़बर सुनें

अमेरिका में अश्वेत जॉर्ज फ्लॉयड की पुलिस की हिरासत में हत्या को लेकर लंदन में भी जारी प्रदर्शन शनिवार को उग्र हो उठे। ब्रिटिश राजधानी में नस्लवाद के खिलाफ हो रहे मार्च के दौरान प्रदर्शनकारी पुलिस के साथ भिड़ गए। इस दौरान जमकर हाथापाई हुई, जिसमें 23 पुलिसकर्मी घायल हो गए। इसके बाद पुलिस के लाठीचार्ज में सैकड़ों प्रदर्शनकारी भी घायल हो गए।

लंदन के पुलिस अधीक्षक जो एडवर्ड्स ने बताया, कोरोना वायरस के खतरे के बावजूद पार्लियामेंट स्क्वायर पर हजारों की संख्या में प्रदर्शनकारी एकत्रित हो गए। वे सरकारी इमारतों की ओर कूच करने लगे। ऐसे में जब उन्हें रोका गया तो उन्होंने पुलिसकर्मियों पर हमला बोल दिया। इसके बाद घुड़सवार पुलिस ने लोगों को तितर-बितर करने के लिए लाठीचार्ज किया।

हालांकि हालातों पर जल्द ही काबू पा लिया गया। बता दें कि अमेरिका और लंदन के अलावा फ्लॉयड की हत्या के विरोध में इटली, ग्रीस, जर्मनी, फ्रांस, न्यूजीलैंड, ऑस्ट्रेलिया और कनाडा में भी बड़े पैमाने पर प्रदर्शन हो रहे हैं।

अमेरिका में अश्वेत जॉर्ज फ्लॉयड की पुलिस की हिरासत में हत्या को लेकर लंदन में भी जारी प्रदर्शन शनिवार को उग्र हो उठे। ब्रिटिश राजधानी में नस्लवाद के खिलाफ हो रहे मार्च के दौरान प्रदर्शनकारी पुलिस के साथ भिड़ गए। इस दौरान जमकर हाथापाई हुई, जिसमें 23 पुलिसकर्मी घायल हो गए। इसके बाद पुलिस के लाठीचार्ज में सैकड़ों प्रदर्शनकारी भी घायल हो गए।

लंदन के पुलिस अधीक्षक जो एडवर्ड्स ने बताया, कोरोना वायरस के खतरे के बावजूद पार्लियामेंट स्क्वायर पर हजारों की संख्या में प्रदर्शनकारी एकत्रित हो गए। वे सरकारी इमारतों की ओर कूच करने लगे। ऐसे में जब उन्हें रोका गया तो उन्होंने पुलिसकर्मियों पर हमला बोल दिया। इसके बाद घुड़सवार पुलिस ने लोगों को तितर-बितर करने के लिए लाठीचार्ज किया।

हालांकि हालातों पर जल्द ही काबू पा लिया गया। बता दें कि अमेरिका और लंदन के अलावा फ्लॉयड की हत्या के विरोध में इटली, ग्रीस, जर्मनी, फ्रांस, न्यूजीलैंड, ऑस्ट्रेलिया और कनाडा में भी बड़े पैमाने पर प्रदर्शन हो रहे हैं।

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *