Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

मैक्सिको के निचले सदन के सांसदों ने गांजे को नशे के इस्तेमाल के लिए लीगल करने वाला बिल मंजूर कर दिया है। जिसके बाद मैक्सिको दुनिया में गांजे का सबसे बड़ा लीगल मार्केट बन सकता है। प्रेसिडेंट एंड्रेस मैनुअल लोपेज ओब्राडोर की मंजूरी से पहले बिल को बड़े पैमाने पर सीनेट का भी समर्थन मिलने की उम्मीद है। हालांकि प्रेसिडेंट इसे लीगल करने के संकेत पहले ही दे चुके हैं।

मेडिकल इस्तेमाल के लिए गांजे को लीगल करने के तीन साल बाद सुप्रीम कोर्ट ने इसके रीक्रिएशनल यानी नशे या आनंद के लिए इस्तेमाल पर लगे बैन को हटाने की बात कही थी, जिसके दो साल बाद निचले सदन में इस बिल को 316 में से 129 वोट के समर्थन से पारित कर दिया गया।

अब कोई भी वयस्क गांजे का धूम्रपान में इस्तेमाल कर सकेगा

यदि बिल कानून बनता है तो देश के वयस्क लोग गांजे का धूम्रपान कर सकेंगे। परमिट लेकर घर में गांजे का पौधा लगा सकेंगे। छोटे किसानों से लेकर कमर्शियल उत्पादकों तक को इसकी खेती करने और फसल बेचने के लिए लाइसेंस दिया जाएगा।

  • मैक्सिको में सत्ताधारी पार्टी की सांसद सिमी ओलवेरा का कहना है कि ‘यह एक ऐतिहासिक पल है, जिसके साथ ही यह गलत धारणा भी पीछे रह जाएगी कि देश में लोगों की गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं का कारण गांजा है।’
  • अगर इस बिल पर प्रेसिडेंट की मुहर लग जाती है तो मैक्सिको भी कनाडा और उरुग्वे साथ अमेरिका के उन देशों में शामिल हो जाएगा जहां गांजे का इस्तेमाल लीगल है।
  • डायरेक्टर ऑफ ड्रग पॉलिसी जॉन वाल्श ने कहा कि ‘ड्रग वॉर की वजह से मैक्सिको की खराब छवि सुधारने की दिशा में यह एक अहम कदम साबित होगा।’

बिल पर दो गुटों में बंटा मैक्सिको
आलोचकों का कहना है कि ‘ मेडिकल इस्तेमाल के लिए देश के करीब दो-तिहाई लोग इस बिल के खिलाफ हैं। विपक्षी नेशनल एक्शन पार्टी की एक सीनेटर और बिल के सबसे बड़े विरोधियों में से एक दामियान जेपा विडेल्स ने कहा कि ‘यह बिल पूरी तरह से राजनीतिक है। सरकार में मौजूद ताकतवर लोग इसे आम जनता की जिंदगी का एक हिस्सा बनाना चाहते हैं।’

लीगल करने से गांजे की तस्करी में कमी
सुरक्षा विशेषज्ञों के अनुसार नया बिल हिंसा को कम करने में मददगार साबित होगा। 15 अमेरिकी राज्यों में गांजा लीगल होने के बाद यह तर्क दिया जाता है इसे लीगल करने से गांजे की तस्करी में भारी कमी देखी गई और कार्टल (ड्रग माफिया का समूह) ज्यादा मुनाफे वाले प्रोडक्ट जैसे- फैंटेनिल और मेथमफेटामाइन की ओर ध्यान देने लगे। बिल के समर्थकों का तर्क है कि ड्रग वॉर को खत्म करने में यह एक ऐतिहासिक कदम है। जिसमें हमने अपने 1 लाख 50 हजार लोगों को खो दिया।

2019 में इंटीरियर मिनिस्टर को गांजा ऑफर कर सुर्खियां बटोरने वाली कांग्रेस की महिला सदस्य लुसिया रियोजस का कहना है कि ‘हमारे जैसे देश में शांति बनाए रखने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है, जहां कम से कम एक दशक या उससे भी अधिक समय तक बेवजह के युद्ध हुए।’

छोटे किसानों को मिलेगा प्राथमिकता से लाइसेंस
इस बिल में अभी तक यह साफ नहीं हो पाया है कि मैक्सिको के गरीब किसानों इससे कितना लाभ होगा, जो दशकों से इसकी खेती करते आ रहे हैं और अक्सर ड्रग माफिया के आपसी मतभेदों के बीच फंस जाते हैं। इस बिल में कहा गया है कि छोटे किसानों और अपने देश के लोगों को प्राथमिकता से लाइसेंस दिया जाएगा। कुछ टर्म्स एंड कंडीशन के तहत एक से अधिक लाइसेंस भी दिए जा सकते हैं।

अर्थव्यवस्था सुधारने में अहम भूमिका का दावा
120 मिलियन से अधिक आबादी वाला मैक्सिको दुनिया के सबसे बड़े गांजा मार्केट का प्रतिनिधित्व करेगा। इसकी खेती मैक्सिको में एक बड़े व्यवसाय के रूप में उबरेगी जो कि कोरोना काल में बिगड़ी अर्थव्यवस्था को सुधारने में अहम साबित होगी।

बड़े पूंजीपतियों को होगा फायदा
कुछ कार्यकर्ताओं को डर है कि यह कानून ‘इंटीग्रल लाइसेंस’ के जरिए बड़े पूंजीपतियों को फायदा देगा। ‘इंटीग्रल लाइसेंस’ के मुताबिक पूंजीपति गांजे की खेती से लेकर उसे बेचने तक के लिए आजाद हैं। जबकि छोटे उत्पादक सिर्फ बाजार तक ही सीमित रहेंगे, उन्हें खेती करने का लाइसेंस शायद न मिले।

हर व्यक्ति को 28 ग्राम गांजा रखने की इजाजत
इस बिल के मुताबिक प्रति व्यक्ति को 28 ग्राम गांजा रखने और 6 गांजे का पौधा लगाने की इजाजत होगाी। 18 साल से अधिक उम्र के लोग गांजे का अधिकृत व्यवसाय करने वालों से गांजा खरीद सकेंगे और लाइसेंस प्राप्त समूह बड़े पैमाने पर गांजा उगा भी सकेंगे।

हालांकि एक लंबी लड़ाई के बाद गांजे को पूरी तरह से लीगल करने वाला यह कानून ऐतिहासिक कदम है।

खबरें और भी हैं…

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *