सिरसा7 पहला

  • लिंक लिंक

सविता अपनी मां लीलावती के साथ। फाइल फोटो।

हरियाणा के सिरसा के गांव जोधन की सविता पूनिया में बड़ी स्थिति में हैं। ओलिपिकपिक में 8 पेनल्टी खराब गुणवत्ता वाले वेटकर ‘द ग्रेट वेल्थ’ की गुणवत्ता अच्छी होती है। 🙏

26-27 फरवरी को एफआईएच की महिला प्रजनन क्षमता के लायक होने के लिए यह एक बार खुश होने वाली महिला है। ये भारतीय महिला टीम टीम में हैं। खराब होने के लिए टीम का सदस्य बना रहे हैं। माच का सामान रखने के लिए सिर के लिए खुशखबरी आई कि उसकी लागड़ी सविता पूनम को भारतीय महिला टीम का खिलाडिय़ों ने तैयार किया।

सविता पूनिया अपने दादा के सपनों को पूरा करने के लिए I

सविता पूनिया अपने दादा के सपनों को पूरा करने के लिए I

धनकां में वार्षिक जो

सविता इसी टीम इंडिया की अगुवाई में। इस टीम में शामिल है I इस टीम का उत्पाद है दीप इकठ्ठा करने के लिए I सविता को इस नौकरी में नौकरी जोधकां में वार्षिक का कार्य है।

सविता के रखवाले की रख-रखाव बेटी की देखभाल के लिए की जाती है। ओलिंपिक में भी अच्छा प्रदर्शन होगा। यह कि ऑलिंपिक में टीम इंडिया ने कोई भी मैच नहीं खरीदा।

सविता पूनिया आज पूरे विश्व में एक बार जुड़ें।

सविता पूनिया आज पूरे विश्व में एक बार जुड़ें।

बेटी की जिम्मेदारी और परिसर में उतरेगी

महेन्द्र पूनिया के प्रजनन में सक्षम होने के साथ ही यह दोगुना हो जाएगा। जो टीम इंडिया के लिए एक चुनौती भी है। उन्होंने कहा कि बेटी इनको जतने के लिए परिधि से मैदान में उतरा हीगी।

माँ बॉली-बेटी उत्प्रेरित है

सविता की गुणवत्ता से प्रेरणा देने वाला है। मां बोय कि बेटी की इच्छा है कि वे भारत में हों या मांझे हुए हों। इसके

खबरें और भी…

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *