न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
अद्यतन सोम, 11 मई 2020 09:10 अपराह्न IST

ख़बर सुनता है

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मुख्य सचिवों की वीडियो काँफ्रेंसिंग के जरिए हुई बैठक में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी अपनी मांगों को रखा। उत्तराधिकार क्षेत्र को छोड़कर राजधानी के बाकी हिस्सों में आर्थिक गतिविधियों को फिर से शुरू करने की अनुमति मांगी गई।

पीएम की मुख्य सचिवों के साथ बैठक
देश में जारी कोरोनावायरस परिस्थिति के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्य कार्यकर्ताओं के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए सोमवार को बैठक की। बैठक में कोरोना परिस्थिति और लॉकडाउन को लेकर चर्चा की गई और मुख्य सचिवों से सुझाव मांगे गए। इससे पहले प्रधानमंत्री ने 27 अप्रैल को सभी मुख्य सचिवों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए बातचीत की थी।

बैठक की शुरूआत में सबसे पहले गृह मंत्री अमित शाह ने सभी को संबोधित किया। इसके बाद पीएम मोदी ने अपनी बात रखी। इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने लॉकडाउन और अर्थव्यवस्था से जुड़ी कई बातों पर मुख्य कार्यकर्ताओं के साथ विचार विमर्श कर उनकी राय जानी। रेटेड के मुख्यमंत्री अशोक गेहलोत ने सुरज्यीय सप्लाई चेन को सुचारू रूप से बहाल करने की मांग की।

वहीं, गुजरात के मुख्यमंत्री का यह मानना ​​था कि न्यायिक क्षेत्र तक केवल लॉकडाउन लागू रहना चाहिए। हालांकि, मंगलवार से लगभग 50 दिन बाद शुरू होने वाली रेल सेवा का तेलंगाना का मुख्यमंत्री ने विरोध किया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मुख्य सचिवों की वीडियो काँफ्रेंसिंग के जरिए हुई बैठक में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी अपनी मांगों को रखा। उत्तराधिकार क्षेत्र को छोड़कर राजधानी के बाकी हिस्सों में आर्थिक गतिविधियों को फिर से शुरू करने की अनुमति मांगी गई।

पीएम की मुख्य सचिवों के साथ बैठक

देश में जारी कोरोनावायरस परिस्थिति के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्य कार्यकर्ताओं के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए सोमवार को बैठक की। बैठक में कोरोना परिस्थिति और लॉकडाउन को लेकर चर्चा की गई और मुख्य सचिवों से सुझाव मांगे गए। इससे पहले प्रधानमंत्री ने 27 अप्रैल को सभी मुख्य सचिवों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए बातचीत की थी।

बैठक की शुरूआत में सबसे पहले गृह मंत्री अमित शाह ने सभी को संबोधित किया। इसके बाद पीएम मोदी ने अपनी बात रखी। इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने लॉकडाउन और अर्थव्यवस्था से जुड़ी कई बातों पर मुख्य कार्यकर्ताओं के साथ विचार विमर्श कर उनकी राय जानी। रेटेड के मुख्यमंत्री अशोक गेहलोत ने सुरज्यीय सप्लाई चेन को सुचारू रूप से बहाल करने की मांग की।

वहीं, गुजरात के मुख्यमंत्री का यह मानना ​​था कि न्यायिक क्षेत्र तक केवल लॉकडाउन लागू रहना चाहिए। हालांकि, मंगलवार से लगभग 50 दिन बाद शुरू होने वाली रेल सेवा का तेलंगाना का मुख्यमंत्री ने विरोध किया।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *