न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
अपडेटेड शुक्र, 08 मई 2020 06:26 PM IST

ख़बर सुनता है

नारकोटिक्स कंट्रोल बोर्ड (एनसीबी) ने कहा है कि लॉकडाउन के दौरान और अन्य आवश्यक वस्तुओं को उपलब्ध कराने वाले वाहनों के उपयोग अपराधी नशीले पदार्थों की तस्करी में कर रहे हैं। एनसीबी ने यह बात शुक्रवार को ऐसी कुछ रैकेट का पर्दाफाश करने के बाद कही।

एनसीबी ने पिछले दो सप्ताह में देश भर में की गई शौचालयों में 60 किलो अफीम, 61,638 नशीली चाय, कोडीन कफ सीरप की 840 बोतलें और 574 किलो गांजा पकाने का किया है। एनसीबी के उप निदेशक केपीएस मल्होत्रा ​​ने कहा, तस्कर ऐसे वाहनों को सुनने से प्रतिबंध में मिली छूट का फायदा उठा रहे हैं।]

मल्होत्रा ​​ने कहा कि इस तरह के मामले सामने आने के बाद एजेंसी ने सभी राज्यों की सीमाओं पर निगरानी बढ़ा दी है। बता दें कि देश में जानलेवा महामारी कोरोनावायरस या कोविड -19 के प्रसार को रोकने के लिए 25 मार्च को शुरू किए गए लॉकडाउन का तीसरा चरण चल रहा है, जो 17 मई तक चलेगा।

नारकोटिक्स कंट्रोल बोर्ड (एनसीबी) ने कहा है कि लॉकडाउन के दौरान और अन्य आवश्यक वस्तुओं को उपलब्ध कराने वाले वाहनों के उपयोग अपराधी नशीले पदार्थों की तस्करी में कर रहे हैं। एनसीबी ने यह बात शुक्रवार को ऐसी कुछ रैकेट का पर्दाफाश करने के बाद कही।

एनसीबी ने पिछले दो सप्ताह में देश भर में की गई शौचालयों में 60 किलो अफीम, 61,638 नशीली चाय, कोडीन कफ सीरप की 840 बोतलें और 574 किलो गांजा पकाने का किया है। एनसीबी के उप निदेशक केपीएस मल्होत्रा ​​ने कहा, तस्कर ऐसे वाहनों को सुनने से प्रतिबंध में मिली छूट का फायदा उठा रहे हैं।]

मल्होत्रा ​​ने कहा कि इस तरह के मामले सामने आने के बाद एजेंसी ने सभी राज्यों की सीमाओं पर निगरानी बढ़ा दी है। बता दें कि देश में जानलेवा महामारी कोरोनावायरस या कोविड -19 के प्रसार को रोकने के लिए 25 मार्च को शुरू किए गए लॉकडाउन का तीसरा चरण चल रहा है, जो 17 मई तक चलेगा।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *