नई दिलवाली: कोविद -19 प्रकोप भले ही दिन-ब-दिन पूरी दुनिया में उठता रहा है लेकिन देशों की मजबूरी है कि वो अपनी अर्थव्‍यवस्‍था को गति देने के लिए लॉकडाउन में ढील दें। लिहाजा अब कई देश बीतते समय के साथ लॉकडाउन के प्रतिबंधों में कमी कर रहे हैं। हालांकि हर जगह इन प्रतिबंधों में ढील का दुरुपयोग होता है। छिन्नलादेश सरकार ने भी ढाका में को विभाजित -19 के प्रसार को रोकने के लिए लगे प्रतिबंधों में ढील दी और कुछ ही देर में रासतों पर लोगों की भीड़ लग गई। जबकि एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, यहां सोमवार तक कोरोनाटेन्स की संख्‍या 14,000 थी।

रिपोर्ट में कहा गया है कि सरकार ने यार्डट नोटिफिकेशन जारी कर बाजार और शॉपिंग मॉल को रविवार से सुबह 10 बजे से शाम 4 बजे तक खुले रहने की इजाजत दी है। इसके लिए स्वास्थ्य मार्गदर्शक और सोशल डिस्टेंसिंग के उपायों को बरकरार रखने के लिए भी कहा गया है। इसके अलावा सरकार ने कुछ निर्देश के साथ गुरुवार से मस्जिदों में सामूहिक प्रार्थना करने की भी अनुमति दी है।

स्वास्थ्य सेवा महानिदेशालय के अनुसार, देश के कुल को विभाजित -19 मामलों की संख्या रविवार को 14,657 हो गई थी, जबकि 228 लोग इस बीमारी से अपनी जान गंवा चुके हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक ढील को केवल कार, ट्रक और ऑटो-रिक्शा सहित बड़ी संख्या में वाहनों ने ढाका में ट्रैफिक जाम जैसी स्थिति पैदा कर दी। वहीं बाजार में लोगों की मानो बाढ़ आ गई, शायद ही कोई सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर रहा था।

पुलिस ने कहा कि वे यह सुनिश्चित करने की कोशिश कर रहे थे कि किसी को भी बाहर निकलने की अनुमति नहीं दी जाएगी जब तक कि कोई आपातकालीन स्थिति न हो। बता दें कि बांग्लादेश ने पिछले सप्ताह ही देशव्यापी लॉकडाउन को 16 मई तक बढ़ा दिया था।

पहले तो सरकार ने 26 मार्च को 10 दिनों के लिए सामान्य अवकाश घोषित किया था। बाद में, इसे धीरे-धीरे 25 अप्रैल तक बढ़ा दिया गया, क्योंकि देश में COVID-19 के लगातार मामले भी बढ़ रहे थे और मौतों की संख्या में भी वृद्धि हो रही थी।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *