वॉशिंगटन: अमेरिका में कोरोना अब आम लोगों के साथ ही राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प (डोनाल्ड ट्रम्प) के घर और दफ्तर तक पहुंच गया है। हिंदुस्तान में भी कोरोना के बढ़ते संक्रमण ने खतरे का संकेत दे दिया है। कोरोनाइरस
(कोरोनावाइरस)
ने व्हाइट हाउस (व्हाइट हाउस) का डबल अटैक द्वारा खतरे का सिग्नल दे दिया है। ट्रंप की अभेद सुरक्षा को तोड़ना नामुमकिन कहा जाता है लेकिन कोरोनावायरस इतना खतरनाक है कि उसने दुनिया के सबसे सुरक्षित स्थान में भी स्थिरता कर ली है।

अमेरिका में कोरोना से तुलना की हर रणनीति इसी व्हॉट हाउस से फाइनल होती है लेकिन अब व्हाइट हाउस में भी कोरोना ने तेजी कर ली है व्हाइट हाउस में कोरोना की शुद्धि से ऐसी दहशत मची है कि अब राष्ट्रपति ट्रंप की हर दिन कोरोना जांच होगी। व्हाइट हाउस से जुड़े तमाम सुरक्षाकर्मी, ट्रम्प के बॉडीगार्ड्स और कर्मचारियों की स्क्रीनिंग और जांच होगी। कोरोनावायरस अमेरिका के उपराष्ट्रपति के दफ्तर तक पहुंच गया है।
उप राष्ट्रपति माइक पेंस की राष्ट्रपति सचिव कैटी मिलर कोरोना के पॉजिटिव पाए गए हैं। कैटी मिलर अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के वरिष्ठ सलाहकार की पत्नी भी है।

व्हाइट हाउस में कोरोना संक्रमण का ये दूसरा मामला है। इससे पहले, एक कर्मचारी में कोरोनावायरस पॉजिटिव पाया गया है। ये अमेरिकी नौसेना से जुड़ा अधिकारी है। जिसे ट्रम्प और उनके परिवार की सुरक्षा में लगाया गया था। यूएस नेवी की एलिट यूनिट का हिस्सा रहा। ये कमांडो हर वक्त ट्रम्प के परिवार के साथ रहता है। ऐसे सुरक्षाकर्मी ट्रम्प और उनके होमवालों से जुड़े काम करते हैं।

ट्रम्प

राष्ट्रपति ट्रम्प का काफिला हो या फिर उनके घर और दफ्तर से जुड़े काम। हर जगह की जिम्मेदारी अमेरिकी सुरक्षा एजेंसियों के सैंडो पर होती है। अमेरिकी राष्ट्रपति के लंच और डिनर के दौरान भी सुरक्षाकर्मी हर बात की जांच करते हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति के साथ साए की तरह रहने वाला ऐसा ही कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव हो तो अंजाजा लगाइए कितना बड़ा है।

व्हाइट हाउस में कोरोना की ‘एंट्री’!
हर रोज अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प का कोरोना टेस्ट होगा।
ट्रम्प के परिवार वालों की भी हर दिन टेस्टिंग की जाएगी।
इसके अलावा ट्रम्प के आसपास रहने वाले लोगों का भी टेस्ट होगा।
ट्रम्प के सभी सिक्योरिटी गार्ड की भी स्क्रीनिंग और टेस्टिंग होगी।

कोशिश है कि अब कोरोना सेफॉर्म एक भी मरीज व्हिट हाउस के कैंपस और ट्रम्प के करीब न पहुंच सके। लेकिन जो हो गया है वह भी कम खतरनाक नहीं है। श्रमिक दोनों कर्मचारी व्हसे मिले, कहां गए, क्या-क्या किया। इसका पूरा ब्योरा निकाला जा रहा है। कोरोना संक्रमण के किस दौर में सभी लोगों को लगा रहे हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प अभी तक स्पष्ट रूप से नजर नहीं आए थे। ट्रम्प की भी बहुत सी तस्वीरें हाल में आई हैं। अमेरिका में शनिवार को 12,83,929 कोरोनाबल थे। अमेरिका में कोरोना से 77,180 लोगों की मौत हो चुकी है।

ये भी देखें:

अमेरिका में कोरोना के रोगियों की संख्या बढ़ रही है लेकिन अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा कि कोरोनावायरस बिना किसी वैक्सीन के खत्म हो जाएगा। ट्रंप का ये बयान ऐसे समय में आया जब अमेरिका में बेरोजगारी दर सबसे ऊंचे स्तर पर पहुंच गई है।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *