इंग्लैंड ने तीन गेंदबाजाें ने 13 से अधिक की इकोनॉमी से रन दिए.

टीम इंडिया ने दूसरे टी20 मैच में इंग्लैंड को 7 विकेट से हराया. इसके साथ 5 मैचों की सीरीज 1-1 से बराबर हो गई है. इशान किशन और कप्तान विराट कोहली ने अर्धशतक लगाए.

नई दिल्ली. टीम इंडिया (Team India) ने दूसरा टी20 (India vs England) मैच 7 विकेट से जीत लिया. इसके साथ पांच मैचों की सीरीज 1-1 से बराबर हो गई. इंग्लैंड ने पहले खेलते हुए 6 विकेट पर 164 रन बनाए. जवाब में टीम इंडिया ने लक्ष्य को 17.5 ओवर में तीन विकेट पर हासिल कर लिया. इंटरनेशनल डेब्यू कर रहे इशान किशन ने शानदार बल्लेबाजी की और 56 रन बनाए. कप्तान विराट कोहली ने भी नाबाद 73 रन की पारी खेली. इशान प्लेयर ऑफ द मैच भी बने. तीसरा मैच 16 मार्च को खेला जाएगा. जीत के पांच कारण इस तरह रहे-

1.भारत में टॉस हमेशा महत्वपूर्ण रहता है. पहले मैच में इंग्लैंड ने टॉस जीतकर गेंदबाजी की थी और दूसरे मैच में कप्तान विराट कोहली ने टॉस जीता. कोहली ने भी पहले गेंदबाजी की. भारत में अंतिम 14 टी20 मैच की बात करें तो 11 मैच लक्ष्य का पीछा करने वाली टीम ने जीते हैं.

2. डेथ ओवरों में टीम इंडिया के गेंदबाजों ने सधी हुई गेंदबाजी की. इंग्लैंड के बल्लेबाज अंतिम 5 ओवर में सिर्फ 35 रन बना सके और दो विकेट गंवाए. इस कारण स्कोर 180 रन तक नहीं पहुंच पाया. हार्दिक पंड्या, भुवनेश्वर कुमार और शार्दुल ठाकुर ने अंतिम 5 ओवर में सिर्फ दो चौके ही दिए.

3. पहले टी20 मैच में टीम इंडिया के बल्लेबाज बड़ी साझेदारी नहीं कर सके थे और सिर्फ एक अर्धशतक लगा था. लेकिन इस मैच में इशान किशन और विराट कोहली ने 94 रन की साझेदारी की. दोनों बल्लेबाजों ने अर्धशतक भी लगाया. यानी टॉप-3 बल्लेबाजों ने 129 रन बनाए. पिछले मैच में टॉप-3 बल्लेबाज सिर्फ 5 रन बना सके थे.4. पहले मैच में भारतीय बल्लेबाज 6 ओवर के पावर प्ले में अच्छा खेल नहीं दिखा सके थे. टीम ने सिर्फ 22 रन बनाए थे और 3 बड़े विकेट भी खोए थे. इस मैच में हमारे बल्लेबाजों ने सिर्फ एक विकेट खोए और 50 रन बनाए. यहीं से टीम इंडिया को शानदार शुरुआत मिल गई.

5. टीम इंडिया के तीन गेंदबाजों भुवनेश्वर कुमार, वाशिंगटन सुंदर और शार्दुल ठाकुर ने सिर्फ 7 की इकोनाॅमी से रन दिए. दूसरी ओर इंग्लिश गेंदबाजों की बात करें तो क्रिस जॉर्डन, टॉम करेन और बेन स्टोक्स ने 13 से अधिक की इकोनॉमी से रन लुटाए. इससे इंग्लिश गेंदबाज टीम इंडिया पर दबाव नहीं बना सके.




.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *