• डब्ल्यूएचओ के इमरजेंसी प्रोग्राम के प्रमुख डॉ। माइक रेयान ने कहा- बेहतर सर्विलांस वायरस को दोबारा फैलाने से रोकने के लिए जरूरी है।
  • डब्ल्यूएचओ के निदेशक डॉ। टेड्रॉस गेब्रयेसस ने कहा- वैक्सीन बनने तक बचाव के उपाय आपकीाना ही संक्रमण को रोकने के प्रभावी हथियार

दैनिक भास्कर

12 मई, 2020, 09:07 पूर्वाह्न IST

जेनेवा। दुनिया के कई देशों ने कोरोना की वजह से लगाई गई पाबंदियां हटानी शुरू कर दी है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने ऐसे देशों को ज्यादा सतर्क रहने के लिए कहा है। डब्ल्यूएचओ के इमरजेंसी कार्यक्रम के प्रमुख डॉ। माइक रेयान ने सोमवार को कहा, ‘अब हमें कुछ उम्मीद नजर आ रही है। दुनिया के कई देश लॉकडाउन हटा रहे हैं, लेकिन इसको लेकर ज्यादा सावधानी बरतने की जरूरत है।

उन्होंने कहा, कम ‘अगर बीमारी कम स्तर में मौजूद रहती है और इसके क्लसटर्स की पहचान करने की क्षमता नहीं हो तो हमेशा वायरस के दोबारा फैलने का खतरा रहता है। जो देश बड़े पैमाने पर संक्रमण रोकने की क्षमता नहीं होने के बावजूद पाबंदिया हटाए जा रहे हैं, उनके लिए ऐसा करना खतरनाक हो सकता है। ”

डब्ल्यूएचओ के इमरजेंसी कार्यक्रम के प्रमुख डॉ। माइक रेयान ने कहा कि लॉकडाउन हटाने वाले देश ज्यादा सावधानी बरतें। नए
मामलों की पहचान में डिफ़ॉल्ट हुई तो संक्रमण की दूसरी लहर शुरू हो सकती है।

बेहतर सर्विलांस री वायरस को फैलाने से रोकने में महत्वपूर्ण है
रेयान ने कहा कि मुझे उम्मीद है कि जर्मनी और दक्षिण कोरिया नए क्लसटर्स की पहचान कर पाएंगे। इन दोनों देशों में लॉकडाउन हटाने के बाद फिर से फैला हुआ है। रेयान ने इन दोनों देशों की निगरानी व्यवस्था की सराहना की। कहा कि बेहतर सर्विलांस वायरस को दोबारा फैलाने से रोकने के लिए जरूरी है। हम ऐसे देशों का उदाहरण सामने रखें, जो अपनी आंखें खोल रहे हैं और पाबंदियां हटाने को तैयार हैं। वहीं, कुछ ऐसे देश भी हैं, जो आंखें मूंदकर इस बीमारी से बचने की कोशिश में हैं।

पाबंदिया हटाना कठिन और कठिन: गेब्रायस

डब्ल्यूएचओ के निदेशक डॉ। टेड्रॉस गेब्रयेसस ने कहा कि पाबंदिया हटाना मुश्किल और कठिन है। अगर यह धीरे-धीरे और लगातार बचाया जाए तो इससे जान और रोजगार बचाए रहेंगे। संक्रमण की दूसरी लहर देख रही जर्मनी, दक्षिण कोरिया और चीन जैसे देशों के पास इसका सामना करने की सभी प्रणाली मौजूद है। जब तक वैक्सीन उपलब्ध न हो, बचाव के उपाय आपकीाना हीरस से सामना का प्रभावी हथियार है।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *