अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने मंगलवार को कहा कि देश में कोरोनावायरस का प्रकोप कम हो रहा है और यह युद्ध अब अगले चरण में पहुंच गया है जो है देश को बहुत ही सुरक्षित, चरणबद्ध तरीके से और धीरे-धीरे फिर से खुलना।

ट्रम्प ने फोनिक्स में हनीवेल इंटरनेशनल में अपनी टिप्पणी में कहा कि हमारे नागरिकों की कनेक्टिविटी के लिए उनकी शुक्रिया। हमने खतरे को पार कर लिया है और प्रतिद्वंद्वी अमेरिकियों की जान बचा ली गई है। हमारा देश लड़ाई के अगले चरण में है। देश को बहुत ही सुरक्षित, चरणबद्ध तरीके से और धीरे-धीरे फिर से खोला जा रहा है।

अमेरिका के जॉन्स एप्किन्स विश्वविद्यालय के अनुसार मंगलवार तक इस जानलेवा वायरस से 71,000 से अधिक अमेरिकी जान गंवा चुके हैं और 12 लाख से अधिक लोगों को पाए गए हैं।

देश में पिछले एक सप्ताह में नए मामले और मरने वाले लोगों की संख्या में गिरावट आई है जिसके कारण ट्रम्प यह कह पाया कि देश खतरे की स्थिति से बाहर निकल आया है। उन्होंने कहा कि इस वैश्विक महामारी ने अमेरिका में आपूर्ति श्रृंखला बनाए रखने का महत्व और देश में एक मजबूत घरेलू विनिर्माण ठिकाना बनाने की महत्ता को समझा है।

राष्ट्रपति ने कहा कि मैं लंबे समय से इसके बारे में बात करता हूं। अक्सर आप देखोगे कि किसी दूसरे देश में ऐसा संयंत्र काम कर रहा है जो आपके यहाँ भी चल रहा है और आप इसे बेहतर करोगे। उन्होंने कहा कि उनके प्रशासन के नियमों पर निर्भर रखता है यानी अमेरिकी में बनी वस्तुओं की खरीदो और अमेरिकियों की भर्ती मत करो।

ट्रम्प ने कहा कि हमारे देश के लोग मार्शल हैं। आपकी मदद से हम इस वायरस को हरा करेंगे और अमेरिकी दिल, अमेरिकी हाथों, अमेरिकी गौरव और अमेरिकी आत्मा के साथ महान और यशस्वी भविष्य के निर्माण करेंगे।

मज़े बना रही हनीवेल फैक्ट्री के अपने दौरे का जिक्र करते हुए ट्रम्प ने कहा कि वे उच्च गुणवत्ता के एन 95 सेकंड रहे हैं। इससे पहले अमेरिका के मूल निवासियों के साथ बातचीत में ट्रम्प ने कोरोनावायरस को कठोर दुश्मन बताया था। हालांकि, उन्होंने यहां पहुंचने पर स्पष्ट रूप से इनकार करने से इनकार कर दिया। इस बारे में पूछने पर ट्रंप ने कहा कि जरूरत पड़ने पर वे इसे पहनेंगे।

ट्रंप ने कहा कि लेकिन हम जीत रहे हैं और अपने देश को फिर से पटरी पर आते हुए देख रहे हैं। लेकिन अभी तक हासिल नहीं हुआ है। उन्होंने कहा कि अमेरिका अब विभिन्न देशों की मदद कर रहा है जिसमें उनमें वेंटीलेटर्स जैसी आवश्यक चिकित्सा आपूर्ति मुहैया कराना शामिल है।

उन्होंने कहा कि हमारे पास दुनिया के अन्य देशों के सबसे अधिक वेंटीलेटर्स हैं और जैसा कि आप जानते हैं कि हम फ्रांस की मदद कर रहे हैं।) हम फ्रांस, इटली, स्पेन, नाइजीरिया और कई अन्य देशों की सहायता कर रहे हैं।

ट्रम्प ने एफपीएस लगाने से इनकार किया
वहीं, फंक्शन बनाने वाली कंपनी हनीवेल का दौरा करने के दौरान अमेरिकी राष्ट्रपति ने संकाय लगाने से इनकार कर दिया। जब उनसे इसका कारण पूछा गया तो उन्होंने कहा कि जरूरत पड़ने पर वे इसे पहनेंगे।

गौरतलब हो रही ट्रम्प इससे पहले भी वर्क पहनाने पर ऐतराज जता चुके हैं। डिजीज कंट्रोल सेंटर ने पांच अप्रैल को सभी लोगों से अपील की थी कि वह कोरोना से सुरक्षा के लिए संकाय पहने। केंद्र के इस अपील के बाद ट्रम्प ने कहा था कि यह केवल सुझाव है, अक्सर पहने हुए लोगों पर निर्भर करेगा। आप ऐसा कर भी सकते हैं और नहीं भी।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *