अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सोमवार को चीनी-अमेरिकी रिपोर्टर के साथ कोरोनावायरस को लेकर हुई बहस के बाद अपने राष्ट्रपति कॉन्फ्रेंस को अचानक समाप्त कर दिया।

सीबीएस न्यूज की रिपोर्टर वीजिया जतन ने ट्रम्प से सवाल किया कि वह क्यों लगातार इस बात पर जोर दे रहे हैं कि अमेरिका अन्य देशों के वायरस के टेस्टिंग में बेहतर कर रहा है। रिपोर्टर ने पूछा, ‘यह क्यों रखता है? यह वैश्विक प्रतिस्पर्धा क्यों, जबकि हम देख रहे हैं कि हर रोज अमेरिकी अपना जीवन गंवा रहे हैं? ‘

ट्रम्प ने इसका जवाब में कहा, ‘दुनिया में हर जगह लोग अपनी जान गंवा रहे हैं और यह सवाल आपसे चीन से पूछना चाहिए। मुझे यह मत पूछिए, चीन से यह सवाल पूछिए, ओके। ‘

जिंग के वेब बायो से पता चलता है कि उनका संबंध चीन से है। उन्होंने अपने रेडियो बायो में लिखा हुआ है कि ‘चाइनीज बोर्न वेस्ट वर्जिनियन’ (चीन में निर्मित हुई वेस्ट वर्जिनियन)।

जॉर्डन ने ट्रंप के इस जवाब पर उनसे सवाल किया, ‘सर, यह बात खाटौर पर मुझसे ही क्यों कह रहे हैं?’ इस पर ट्रम्प ने कहा, ‘मैं इसे किसी को भी कह रहा हूं जो इस तरह से एक बुरा सवाल पूछेगा।’

इसके बाद ट्रंप दूसरे सवाल के लिए अन्य रिपोर्टरों की तरफ देखने लगे, हालांकि ज ने उन्हें अपने सवाल का जवाब मांगती रही। ट्रंप ने एक और महिला रिपोर्टर को बुलाया लेकिन फिर तुरंत किसी और को बुला लिया गया।

लेकिन जब जॉर्डन लगातार सवाल करते रहे तो, ट्रंप ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को खत्म कर दिया और व्हाइट हाउस में चले गए। इस घटना के बाद ट्विटर पर जद के समर्थन में ट्वीट किए जाने लगे। जल्द ही #StandWithWeijiaJiang हैशटैग सोनी पर ट्रेंडिंग करने लगा।

जापानी फिल्म ‘स्टार ट्रेक’ के अभिनेता और मुख्य चीनी-अमेरिकी कार्यकर्ता जॉर्ज तनी ने #IStandWithWeijiaJiang के साथ ट्वीट किया और ट्रम्प की स्वतंत्रतावादी टिप्पणी का विरोध किया।

सीएनएन के राजनीतिक विश्लेषक और रिपोर्टर अप्रैल रायन जिनकी भी ट्रंप से एक बार तीखी बहस हुई थी। उन्होंने ट्वीट किया, ‘मेरा क्लब में स्वागत है। यह बीमारी है और यह उनकी आदत है। ‘

अमेरिकी राष्ट्रपति समाचार मीडिया को लेकर अपनी नापसंदगी हमेशा ही जाहिर करते रहते हैं। ट्रम्प अक्सर ही अपने कोरोनावायरस प्रेस ब्रीफिंग के दौरान पत्रकारों के साथ संलग्न होते हैं।

बता दें कि अमेरिका में अब तक 80 हजार से ज्यादा लोगों की कोरोनावायरस से मौत हो चुकी है। वहीं, लगभग 13 लाख लोग इस खतरनाक वायरस से प्रभावित हैं।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *