• चार्ल्सटन पोस्ट और न्यूयॉर्क टाइम्स के पत्रकारों को 2018 में मिला था पुलित्जर डिग्री
  • पूर्व राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार माइकल फ्लिन पर इस मामले में केस समाप्त कर दिया गया है

दैनिक भास्कर

08 मई, 2020, शाम 04:10 बजे IST

वॉशिंगटन। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने बृहस्पतिवार को कहा कि उन अखबारों को पुलित्जर प्रमाणपत्र लौटा देना चाहिए, जिन्होंने अमेरिकी चुनावों में रूस के हस्तक्षेप की कवरेज की थी। उन्होंने खबरों को गलत बताते हुए संवाददाताओं को कहा कि वह कह चुकी हैं।

व्हाइट हाउस के ओवल ऑफिस में ट्रम्प ने रिपोर्टरों से कहा, ‘हैं वे पत्रकार नहीं हैं। वे हैं। वे सभी लोग जिनको पुलित्जर पुरस्कार मिला है, उन्हें पुरस्कार लौटाने के लिए मजबूर किया जाना चाहिए, क्योंकि वे सभी गलत थे। आपने आज देखा, और दस्तावेज़ सामने आ रहे हैं, जिसे पता चलता है कि चुनावों में रूस के साथ कोई मिलीभगत नहीं थी। ’’ उन्होंने यह बात तब कही जब न्याय मंत्रालय ने उनके पूर्व राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जनरल माइकल फ्लिन (रिटायर्ड) के मामले को खत्म करने की घोषणा की है। फ्लिन पर रूसी हस्तक्षेप के मामले में ही जांच चल रही थी।

कहा-सही लोगों को मिलना चाहिए पुलित्जर

ट्रम्प ने आगे कहा, ‘ित पुलित्जर पुरस्कार जरूर लौटा देना चाहिए, क्योंकि आपको पता है कि ये गलत काम पर दिए गए हैं। वे सभी गलत समाचार थे। इसलिए ये उपाधि तुरंत पुलित्जर कमेटी को लौटा देना चाहिए। ये वापस नहीं होंगे तो यह पुलित्जर प्रमाणों का अपमान होगा। पुलित्जर पुरस्कार उन लोगों को मिलना चाहिए जिन्होंने सही खबर दी थी और मैं आपको उन नामों की भी लंबी सूची दे सकता हूं, और आपको पता होगा कि मैं व्हाकी बात कर रहा हूं। ”

ट्रम्प ने फ्लिन को बेकसूर बताया
ट्रम्प ने कहा, ‘‘ माइकल फ्लिन बेकसूर थे। वे बहुत सज्जन हैं, ओबामासा ने उन्हें इसलिए निशाना बनाया ताकि राष्ट्रपति को नीचे गिराया जा सके। जो उन्होंने किया वह शर्म की बात है और मुझे लगता है कि उन्हें इसकी बड़ी कीमत चुकानी होगी। हमारे देश के इतिहास में ऐसा पहले कभी नहीं हुआ था। उन्होंने कहा कि ओबामास्टा में शामिल लोग पकड़े गए हैं। वे बहुत बेइमान लोग हैं। यह काम उनकी बेईमानी से ज्यादा देशद्रोह का है। यह निश्चित रूप से देशद्रोह है। ”

जॉनसन पोस्ट और न्यूयॉर्क टाइम्स को मिला था
अमेरिका में 2016 में हुए राष्ट्रपति पद के चुनावों में रूस के हस्तक्षेप का खुलासा करने पर वाशिंगटन पोस्ट और न्यूयॉर्क टाइम्स के पत्रकारों को 2018 में पुलित्जर डिग्री दी गई थी।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *