• सिलेक्शन कमेटी के मुताबिक, घेरलू सीजन की शुरुआत मुश्ताक अली टूर्स से होने वाले खिलाड़ियों को आईपीएल की सीबीएसई मिलेगी।
  • इससे टीम इंडिया के खिलाडि़यों को आंतरिक क्रिकेट में वापसी से पहले प्रैक्टिस का मौका मिलेगा, विराट और रोहित जैसे खिलाड़ी इसमें शामिल हो सकते हैं।
  • पिछले साल अगस्त में 2019-20 सीजन की शुरुआत दिलीप ट्रॉफी से हुई थी, जबकि नवंबर में घरेलू टी -20 टूर्नामेंट हुआ था

दैनिक भास्कर

09 मई, 2020, 08:54 AM IST

भारतीय क्रिकेट टीम के चीफ सिलेक्टर सुनील जोशी ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) को नए सीजन की शुरुआत टी -20 से करने का सुझाव दिया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, बीते दिनों नेशनल सिलेक्शन कमेटी कीबैठक हुई थी। इसमें जोशी ने यह प्रस्ताव दिया था। अगर बोर्ड इस पर सहमति होती है तो आमतौर पर अगस्त में शुरू होने वाले नए सीजन का आगाज सैयद मुश्ताक अली टी -20 टूर्नामेंट से हो सकता है।

टी -20 विश्व कप की तैयारियों में मदद मिलेगी

सिलेक्शन कमेटी के मुताबिक, इससे खिलाड़ी टी -20 विश्व कप के लिए तैयार हो जाएंगे। इस वर्ष ऑस्ट्रेलिया में अक्टूबर-नवंबर में यह बैनर खेला जाना है। वहाँ, खिलाड़ियों को भारतीय प्रीमियर लीग की तैयारी का भी मौका मिल जाएगा। हालाँकि, अभी तक आईपीएल का शेड्यूल तय नहीं हुआ है। लेकिन मौजूदा हालात, फ्यूचर टूर प्रोग्राम को देखते हुए लीग के सितंबर-अक्टूबर में होने की उम्मीद है।

रोहित, कोहली जैसे खिलाड़ियों को प्रैक्टिस का मौका मिलेगा

ज्यादातर आंतरिक क्रिकेटर घरेलू क्रिकेट में हिस्सा लेने को प्राथमिकता नहीं देते हैं। लेकिन मौजूदा हालात में उन्हें इसके जरिए प्रैक्टिस का मौका मिलेगा। ऐसे में आंतरिक क्रिकेट में वापसी से पहले विराट कोहली, रोहित शर्मा जैसे कई बड़े खिलाड़ी अपनी घरेलू टीमों की तरफ से उतर सकते हैं। अगर ऐसा होता है तो विराट 2013 के बाद पहली बार दिल्ली की तरफ से खेलते हुए आ सकते हैं।

धोनी भी घरेलू स्तर से टी -20 में बदलाव कर सकते हैं

कोहली पिछली बार 2013 में एनकेपी लॉगर ट्रॉफी में दिल्ली की तरफ से खेले थे। वहीं, 9 महीने से क्रिकेट से दूर महेंद्र सिंह धोनी भी आईपीएल से पहले टी -20 क्रिकेट खेल सकते हैं।

खाली स्टेडियम में मुश्ताक अली टूर्नामेंट कराया जा सकता है

अगर बीसीसीआई सिलेक्शन कमेटी के सुझाव मान लेती है तो उसे घरेलू टी -20 लीग के आयोजन में परेशानी नहीं होगी। क्योंकि लीग के सभी मैच लाइव नहीं दिखाए गए हैं। ऐसे में खाली स्टेडियम में इस टूर्नामेंट को बनाए रखने में बोर्ड को कोई परेशानी भी नहीं होगी।हालांकि, घरेलू टी -20 लीग को लेकर आए सुझाव और आईपीएल के भविष्य पर बोर्ड 17
मई के बाद ही कोई निर्णय लेगा। इसी दिन लॉकडाउन -3 की मियाद खत्म हो रही है।

पिछले साल नवंबर में हुआ था घरेलू टी -20 दौरे

बता दें कि पिछले साल अगस्त में 2019-20 सीजन की शुरुआत दिलीप ट्रॉफी से हुई थी। सितंबर-अक्टूबर में विजय हजारे और नवंबर में देवधर ट्रॉफी खेली गई। इसके बाद सैयद मुश्ताक अली टी -20 टूर्नामेंट हुआ। इसी वर्ष मार्च में रणजी ट्रॉफी का फाइनल हुआ। हालांकि, कोरोना की वजह से इरानी कप नहीं खेला जा रहा है। इसमें रणजी ट्रॉफी चैंपियंस सौराष्ट्र और रेस्ट ऑफ इंडिया के बीच मुकाबला होना था।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *