बीजिंग: सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना का आरक्षण करते हुए राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने कहा है कि कोविद -19 की लड़ाई ने एक बार फिर दिखाया है कि सीपीसी नेतृत्व और देश की सामाजिक राजनीतिक नेतृत्व व्यवस्था, किसी भी चुनौती का सामना कर सकती है। शुरू के खिलाफ कार्रवाई नहीं करने के लिए चीन (चीन) की पूरी दुनिया में हो रही आलोचना के बाद शी का यह बयान आया है। चीन के अधिकारियों के मुताबिक यह वायरस पिछले साल दिसंबर में चीन के शहर वुहान में सामने आया था।

बीजिंग पर दबाव बनाया जा रहा है कि वह वायरस की उत्पत्ति की आंतरिक जांच पर सहमति हो। शी सीपीसी के प्रमुख हैं। उन्होंने कहा कि चीन ने लगभग एक महीने में कोरोनावायरस के प्रसार पर रोक लगा दी और इसके केंद्र बिंदु वुहान में लगभग तीन महीने के अंदर इस पर नियंत्रण पा लिया। उन्होंने कोविद -19 के निवारण और नियंत्रण पर अवैध सत्तारूढ़ सीपीसी दलों का सुझाव जानने के लिए आयोजित एक सेमिनार में ये बातें कहीं।

ये भी पढ़ें- नौकरी करने वालों के लिए झटका! मिनिमम वेज और बोनस काटने के चक्कर में कंपनियां

उन्होंने कोविद -19 महामारी पर हस्तक्षेप को दुनिया के सबसे ज्यादा आबादी वाले देश और दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था के लिए कठिन परिश्रम से अर्जित उपलब्धियां करार दीं।

उन्होंने कहा कि कोविद -19 के खिलाफ लड़ाई में एक बार फिर दिखाया गया है कि सीपीसी नेतृत्व, चीन की समाजवादी व्यवस्था और इसकी प्रशासनिक व्यवस्था किसी भी चुनौती से पार पा सकती है और मानव सभ्यता की प्रगति में बड़े योगदान कर सकती है। शी ने कहा कि चीन ने एक महीने से थोड़ा अधिक समय में वायरस के प्रसार पर अधिक पा लिया है। उन्होंने कहा, ‘140 करोड़ की आबादी वाले देश के लिए यह कठिन परिश्रम से अर्जित उपलब्धियां हैं।’

शी ने चीन में एक पार्टी की राजनीतिक व्यवस्था की प्रशंसा की।

ये भी देखें-





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *