ख़बर सुनता है

चीन के वुहान शहर की पूरी 11 मिलियन आबादी का कोरोनावायरस टेस्ट होगा। बता दें कि वुहान, चीन का वही शहर है, जहां से कोरोनावायरस पैदा हुआ है और महामारी बनकर फैल गई है। ऐसे में चीन ने वायरस के हमले की दूसरी लहर की आशंका जताते हुए हफ्तों में पहली बार नए मामलों की रिपोर्ट के बाद शहर की पूरी आबादी का परीक्षण करने का फैसला किया है।

आधिकारिक मीडिया ने मंगलवार को बताया कि एक आवासीय समुदाय में छह नए कोरोनावायरस मामलों के सामने आने के बाद शहर ने अपने सभी निवासियों का परीक्षण करने के लिए 10 दिन की योजना तैयार की है।

हुबई प्रांत और इसकी राजधानी वुहान ने 8 अप्रैल को लंबे समय तक लागू लॉकडाउन को बचाया था। यहां 23 जनवरी से यह खतरनाक वायरस आग की तरह पूरे क्षेत्र में फैल गया था।

चीन में कोरोनावायरस से पिछले तीन महीनों में 4,512 लोगों की मौत हो चुकी है। अकेले अकेले वुहान शहर में इस खतरनाक बीमारी से 3,869 लोगों की मौत हो गई।

हुबेई प्रांत में कोरोनावायरस के 68,134 मामले पाए गए। अकेले 50,339 मामले वुहान शहर के थे।

मामलों के नए समूहों की क्षमताओं के अलावा, वुहान ने 650 टचोन्मुख मामलों की भी रिपोर्ट की। बता दें कि स्पर्शोन्मुख मामला उन लोगों को परिष्कृत करते हैं जिन्हें को विभाजित -19 पॉजिटिव टेस्ट किया जाता है, लेकिन ये बुखार, खांसी या गले में खराश जैसे कोई लक्षण विकसित नहीं होते हैं। इन लोगों से इस बीमारी का फैलने का खतरा बना रहता है।

वुहान विश्वविद्यालय के झोंगन अस्पताल की गहन देखभाल इकाई के निदेशक पेंग जिहेसग ने राज्य संचालित ग्लोबल टाइम्स को बताया कि उन्हें परीक्षण योजना का वापस नहीं मिला है।

उन्होंने कहा कि सभी का परीक्षणकर्ता हो जाएगा, इसलिए परीक्षण में प्रमुख समूहों और समुदायों जैसे कि रोगियों और उनके परिवार के सदस्यों, चिकित्सा कर्मचारियों, बुजुर्गों और पूर्व-मौजूदा चिकित्सा स्थितियों के लोगों पर ध्यान केंद्रित करने की संभावना है।

चीन के वुहान शहर की पूरी 11 मिलियन आबादी का कोरोनावायरस टेस्ट होगा। बता दें कि वुहान, चीन का वही शहर है, जहां से कोरोनावायरस पैदा हुआ है और महामारी बनकर फैल गई है। ऐसे में चीन ने वायरस के हमले की दूसरी लहर की आशंका जताते हुए हफ्तों में पहली बार नए मामलों की रिपोर्ट के बाद शहर की पूरी आबादी का परीक्षण करने का फैसला किया है।

आधिकारिक मीडिया ने मंगलवार को बताया कि एक आवासीय समुदाय में छह नए कोरोनावायरस मामलों के सामने आने के बाद शहर ने अपने सभी निवासियों का परीक्षण करने के लिए 10 दिन की योजना तैयार की है।

हुबई प्रांत और इसकी राजधानी वुहान ने 8 अप्रैल को लंबे समय तक लागू लॉकडाउन को बचाया था। यहां 23 जनवरी से यह खतरनाक वायरस आग की तरह पूरे क्षेत्र में फैल गया था।

चीन में कोरोनावायरस से पिछले तीन महीनों में 4,512 लोगों की मौत हो चुकी है। अकेले अकेले वुहान शहर में इस खतरनाक बीमारी से 3,869 लोगों की मौत हो गई।

हुबेई प्रांत में कोरोनावायरस के 68,134 मामले पाए गए। अकेले 50,339 मामले वुहान शहर के थे।

मामलों के नए समूहों की क्षमताओं के अलावा, वुहान ने 650 टचोन्मुख मामलों की भी रिपोर्ट की। बता दें कि स्पर्शोन्मुख मामला उन लोगों को परिष्कृत करते हैं जिन्हें को विभाजित -19 पॉजिटिव टेस्ट किया जाता है, लेकिन ये बुखार, खांसी या गले में खराश जैसे कोई लक्षण विकसित नहीं होते हैं। इन लोगों से इस बीमारी का फैलने का खतरा बना रहता है।

वुहान विश्वविद्यालय के झोंगन अस्पताल की गहन देखभाल इकाई के निदेशक पेंग जिहेसग ने राज्य संचालित ग्लोबल टाइम्स को बताया कि उन्हें परीक्षण योजना का वापस नहीं मिला है।

उन्होंने कहा कि सभी का परीक्षणकर्ता हो जाएगा, इसलिए परीक्षण में प्रमुख समूहों और समुदायों जैसे कि रोगियों और उनके परिवार के सदस्यों, चिकित्सा कर्मचारियों, बुजुर्गों और पूर्व-मौजूदा चिकित्सा स्थितियों के लोगों पर ध्यान केंद्रित करने की संभावना है।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *