न्यूयॉर्क: कोरोनावायरस पर महत्वपूर्ण खोज करने के करीब पहुंचे एक चीनी रिसर्चर की अमेरिका के पेनसिलवानिया में गोली मारकर हत्या कर दी गई है। मीडिया में बुधवार को आई खबरों में यह बात कही गई। रॉस पुलिस विभाग के अनुसार पिट्सर्ब विश्वविद्यालय के प्रोफेसर बिंग लिउ (37) शनिवार को उत्तरी पिट्सबर्ग की रॉस टाउनशिप में अपने घर में मृत पाया गया। उनके सिर, गर्दन, धड़ और हाथ-पैरों में पंजों के निशान थे। जांच अधिकारियों का मानना ​​है कि अपनी कार में मृत मिले 46 वर्षीय एक व्यक्ति ने लिउ की गोली मारकर हत्या कर दी और फिर अपनी कार में लौटकर आत्महत्या कर ली।

सीएनएन की खबर के अनुसार जांच अधिकारी सार्जेंट ब्रायन कोहलेप ने कहा कि पुलिस का मानना ​​है कि दोनों लोग एक-दूसरे को जानते थे, लेकिन इस बात के कोई संकेत नहीं हैं कि लिउ की हत्या उनके चीनी होने की वजह से की गई है। विश्वविद्यालय ने घटना पर शोक व्यक्त करते हुए लिउ के अनुसंधान कार्यों को याद किया।

पिट्सबर्ग यूनिवर्सिटी के सहकर्मियों ने कहा, “लिउ सार्स-कोव -2 संक्रमण से जुड़े कोशिकीय तंत्र को समझने की दिशा में महत्वपूर्ण खोज करने के करीब थे। वह बहुत ही भावभान और परिश्रमी थे।”





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *