ब्रायन लारा ने नाबाद 501 रन बनाए थे (फाइल फोटो)

18 रन पर विपक्षी टीम ने ब्रायन लारा (ब्रायन लारा) का कैच छोड़ दिया, उसके बाद वेस्टइंडीज दिगंजियांग ने वर्लड रिकॉर्ड बनाया।

नई दिलवाली क्रिकेट की दुनिया में एक कैच छूटना टीम को भारी पड़ जाता है। एक कैच से ही पूरे मैच का पासा पलट जाता है। कई बार तो ये मैच उमीदों से भी जियादा महंगे भी साबित हो जाते हैं। मगर क्या उस छूटे हुए कैच के बारे में जानते हैं, जो दुनिया का सबसे स्पष्ट साबित हुआ। एक कैच छूटने से टीम ने 810 रन बनाये और उस जीवनदान का फायदा उठाने वाले उस बल्लीबाज ने अकेले नाबाद 501 रन बनाये। ये एक वर्टल रिकॉर्ड भी है। बात 3 जून 1994 की है। जब एजबेस्टन में काउंटी चैंपियनशिप में वाकरशर की ओर से डरहम के खिलाफ खेलते हुए वेस्टइंडीज के दिग्‍गज बल्‍लेबाज ब्रायन लारा (ब्रायन लारा) ने नाबाद 501 रन बनाए थे।

उस समय शानदार फॉर्म में चल रहे ब्रायन लारा (ब्रायन लारा) उस मैच में तीसरे नंबर पर बुलिंग करने आए थे। पहले बल पर तो वह बाल बाल बच गया। उसके बाद जब लारा 18 रन पर खेल रहे थे तो साइमन ब्र की गेंद पर विकेटकीपर मास्टर शोकेस्ट ने लारा का आसान सा कैच टपका दिया। उस जीवनदान के बाद केनबियाई दिगंज ने 483 रन बनाए थे। इसे दुनिया का सबसे बेहतर कैच छूटना माना जाता है।

62 चौके और 10 छक्के लगाए गए

18 पर जैसे ही शककोट ने कैच छोड़ा, वो लारा के शतक के साथ ही विलन बन गए। इसके बाद लारा ने 200, 300, 400 और फिर 500 रन पूरे किए। जैसे लारा हर एक माइलसटोन को पार कर रहे थे, उसी तरह श्कॉट विलान बनते जा रहे थे। लारा की टीम ने चार विकेट पर 801 रन बनाए। नैरबियाई दिग्‍गज ने 427 गेंदों पर नाबाद 501 रन बनाए। जिसमें उन्होंने 62 चौके और 10 जड़े। उनकी ऐतिहासिक पारी में उनकी शट्राइक रेट 117.33 की रही। उससे पहले डरहम ने आठ विकेट पर 556 रन पर पारी घोषित की थी।35 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ा

लारा ने इस जबरदस्त पारी से एक पारी में सबसे ज्यादा रन बनाने का हनीफ मोहम्ममद का 35 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ दिया था। हनीफ ने 1959 में कराची में 499 रन बनाए थे। हालांकि वह 500 रन का आंकड़ा छू नहीं पाया। वह रन आउट हो गए थे। ब्रायन लारा और हनीफ के अलावा फर्स्ट क्लास्लास क्रिकेट में शीर्ष चार बड़े पारियों में तीसरे नंबर पर डॉन ब्रैडमेन का नाम आता है, जानी है 1930 में न्‍यू साउथ साउथ वेल की ओर से खेलते हुए नेवींसलैंड के खिलाफ नाबाद 452 रन बनाए थे। चौथे नंबर पर बीबी निंबालकर का नाम आता है। 1948 में महाराजा की ओर काठियावाड़ के खिलाफ खेलते हुए निंबलर ने नाबाद 433 रन बनाए थे।

लार पर बैन की आशंका पर बोले हरभजन, मशीन बनकर जा रहे होंगे गेंदबाज

400 रन बनाने से डिफ़ॉल्ट हुआ पाक ​​का ये दिग्गज बल्लेबाज, कहा- I वर्ल्ड रिकॉर्ड …

News18 हिंदी सबसे पहले हिंदी समाचार हमारे लिए पढ़ना यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर । फोल्ट्स। देखिए क्रिकेट से संलग्न लेटेस्ट समाचार।

प्रथम प्रकाशित: 5 मई, 2020, 12:03 PM IST


इस दिवाली बंपर अधिसूचना
फेस्टिव सीजन 75% की एक्स्ट्रा छूट। केवल 289 में एक साल के लिए सब्सक्राइब करें करें मनी कंट्रोल प्रो।कोड कोड: DIWALI ऑफ़र: 10 नवंबर, 2019 तक

->





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *