कोविद -19: महाराष्ट्र में रिकॉर्ड कूद के साथ राष्ट्रव्यापी टैली क्रॉस 52k; स्वास्थ्य कार्यकर्ता, संक्रमित व्यक्ति के बीच सुरक्षा कार्मिक – 52 हजार के पार हुई हिंसाओं की संख्या, 24 घंटे में महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा मामले

Bytechkibaat7

May 6, 2020 , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,


देशभर में कोरोनावायरस से हानिकारक रोगियों की कुल संख्या 52,345 हो गई है। इनमें से 33 हजार से ज्यादा मामले सक्रिय हैं, 15 हजार लोग अब तक स्वस्थ हो चुके हैं या उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। राज्य सरकारों की ओर से दी गई ताजा जानकारी के अनुसार, देश में अब तक 1702 लोगों की मौत हो चुकी है।

बुधवार को जो नए मामले सामने आए हैं उनमें से ज्यादातर रोगी शहरी क्षेत्रों के स्वास्थ्य कर्मी और सुरक्षा कर्मी हैं। इसके अलावा अधिकारियों ने पश्चिम बंगाल, गुजरात और महाराष्ट्र सहित कुछ राज्यों में उच्च मृत्यु दर की बात कही है।

हालांकि इसके साथ ही केरल में संक्रमण का एक भी नया मामला सामने नहीं आ रहा जैसे राहत भरी खबर भी आई है। उसी माह में बुधवार को 1200 से अधिक मामले सामने आए हैं जो एक दिन में सामने आए मामलों की सबसे ज्यादा संख्या है।

बता दें कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बुधवार से रोजाना शाम को कोरोने के मामलों की संख्या में वृद्धि से जुड़ी जानकारी देना बंद कर दिया है। ऐसे में राज्य सरकारों से मिली जानकारी के मुताबिक पीटीआई ने जानकारी दी है कि देश में अब तक कुल 52345 लोगों की मौत हो गई है, जबकि 1702 लोगों की मौत हुई है। वहीं 15 हजार लोग ठीक भी हैं।

बुधवार को सबसे ज्यादा मामला महाराष्ट्र में सामने आया। महाराष्ट्र में 24 घंटे में कोरोना के 1233 नए मामले सामने आए हैं। इस दौरान 34 की मौत हुई है। महाराष्ट्र में कोरोनावायरस से अब तक 651 लोगों की मौत हो चुकी है। प्रदेश में अब कुल 16758 मामले हो गए हैं।

वहीं, बात करें मुंबई की तो वहां कोरोनाटेन्स की कुल संख्या 10714 हो गई है। पिछले 24 घंटों में 25 लोगों की मौत हुई है। इसके अलावा गुजरात, मध्यप्रदेश, पश्चिम बंगाल, राजस्थान, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, आंध्रप्रदेश, तमिलनाडु, तेलंगाना, कर्नाटक और पंजाब कोरोनावायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित होने वाले राज्य हैं।

केरल में भी 500 से ज्यादा कोरोना के मामले हैं, लेकिन बुधवार को वहां एक भी मामला सामने नहीं आया है। प्रदेश के अधिकारियों के मुताबिक ज्यादातर लोगों के ठीक होने के कारण राज्य में सक्रिय मामले भी सिर्फ 30 रह गए हैं।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *