न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
अपडेटेड सन, 10 मई 2020 10:41 AM IST

विदेशों में फंसे भारतीयों को वापस लाया जा रहा है
– फोटो: एएनआई

ख़बर सुनता है

विदेशों में फंसे भारतीयों को देश वापस लाने के लिए भारत सरकार ने वंदे भारत मिशन और ऑपरेशन समुद्र सेतु लॉन्च किया हुआ है। जिसके तहत पूरी सुरक्षा जांच के बाद नागरिकों को देश लाया जा रहा है। इसी कड़ी में मालदीव की राजधानी माले से 698 भारतीयों को वापस बारे में आइसेस जलाश्व रविवार को कोच्चि हार्बर पहुंच गए। वहीं सिंगापुर से एयर इंडिया का एआई 343 विमान 243 यात्रियों को लेकर मुंबई पहुंच गया है।

कोच्चि हार्बर तक पहुँच गया I जलाशय
ऑपरेशन समुद्र सेतु के तहत नौसेना का युद्धपोत आईंट जलाश मालदीव की राजधानी माले से 698 भारतीयों को वापस लेकर रविवार को कोच्चि हार्बर पहुंच गया। भारतीय नौसेना के अनुसार 698 भारतीय नागरिकों में से 19 गर्भवती महिलाएं हैं। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि कोविड -19 के दौरान विदेश से भारतीयों को वापस लाने का यह भारचीय नौसेना का पहला निष्कर्षण अभियान था। यात्री कोचीन पोर्ट ट्रस्ट के पोलैंड टर्मिनल से उतर जाएगा। पुलिस महानिरीक्षक विजय स्ट्रिंगारे ने कहा कि देश वापस आए नागरिकों के सुरक्षित निवास के लिए सभी तैयारियों की गई हैं। यात्रियों में 440 केरल से जबकि बाकी विभिन्न राज्यों से हैं।

सिंगापुर से मुंबई 24 यात्री पहुंचे
वंदे भारत अभियान के तहत सिंगापुर से एयर इंडिया का दूसरा विमान 243 यात्रियों को लेकर मुंबई पहुंच गया है। विमान संख्या एआई 343 के माध्यम से सभी को लाया गया है। यह जानकारी सिंगापुर में स्थित भारतीय उच्चयोग ने दी थी।

उज्बेकिस्तान से लाए भारतीय नागरिक होंगे
कोविद -19 की वजह से उज्बेकिस्तान में फंसे भारतीयों को वंदे भारत अभियान के तहत स्वदेश लाया जाएगा। ताशकंद में स्थित भारतीय दूतावास के अधिकारियों ने यात्रियों की थर्मल चेकिंग की। यह जानकारी उज्बेकिस्तान में मौजूद भारतीय राजदूत संतोष झा ने दी।

विदेशों में फंसे भारतीयों को देश वापस लाने के लिए भारत सरकार ने वंदे भारत मिशन और ऑपरेशन समुद्र सेतु लॉन्च किया हुआ है। जिसके तहत पूरी सुरक्षा जांच के बाद नागरिकों को देश लाया जा रहा है। इसी कड़ी में मालदीव की राजधानी माले से 698 भारतीयों को वापस बारे में आइसेस जलाश्व रविवार को कोच्चि हार्बर पहुंच गए। वहीं सिंगापुर से एयर इंडिया का एआई 343 विमान 243 यात्रियों को लेकर मुंबई पहुंच गया है।

कोच्चि हार्बर तक पहुँच गया I जलाशय

ऑपरेशन समुद्र सेतु के तहत नौसेना का युद्धपोत आईंट जलाश मालदीव की राजधानी माले से 698 भारतीयों को वापस लेकर रविवार को कोच्चि हार्बर पहुंच गया। भारतीय नौसेना के अनुसार 698 भारतीय नागरिकों में से 19 गर्भवती महिलाएं हैं। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि कोविड -19 के दौरान विदेश से भारतीयों को वापस लाने का यह भारचीय नौसेना का पहला निष्कर्षण अभियान था। यात्री कोचीन पोर्ट ट्रस्ट के पोलैंड टर्मिनल से उतर जाएगा। पुलिस महानिरीक्षक विजय स्ट्रिंगारे ने कहा कि देश वापस आए नागरिकों के सुरक्षित निवास के लिए सभी तैयारियों की गई हैं। यात्रियों में 440 केरल से जबकि बाकी विभिन्न राज्यों से हैं।

सिंगापुर से मुंबई 24 यात्री पहुंचे
वंदे भारत अभियान के तहत सिंगापुर से एयर इंडिया का दूसरा विमान 243 यात्रियों को लेकर मुंबई पहुंच गया है। विमान संख्या एआई 343 के माध्यम से सभी को लाया गया है। यह जानकारी सिंगापुर में स्थित भारतीय उच्चयोग ने दी थी।

उज्बेकिस्तान से लाए भारतीय नागरिक होंगे
कोविद -19 की वजह से उज्बेकिस्तान में फंसे भारतीयों को वंदे भारत अभियान के तहत स्वदेश लाया जाएगा। ताशकंद में स्थित भारतीय दूतावास के अधिकारियों ने यात्रियों की थर्मल चेकिंग की। यह जानकारी उज्बेकिस्तान में मौजूद भारतीय राजदूत संतोष झा ने दी।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *