• अखबार ने मृतकों का नाम, उम्र और पता के बाद उनके बारे में एक लाइन लिख कर उन्हें याद किया
  • सोशल मीडिया यूजर्स ने मृतकों को याद करने के इस अनूठे तरीके के लिए अखबार को धन्यवाद दिया

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 11:38 AM IST

वॉशिंगटन. अमेरिका में कोरोना से मरने वालों की संख्या 1 लाख के करीब पहुंच गई। न्यूयॉक टाइम्स अखबार ने रविवार को अपने फ्रंट पेज पर 1000 मृतकों के नाम छापे। अखबार ने इन सभी के लिए सिर्फ एक लाइन का शोक संदेश लिखा, ‘‘अमेरिका में 1 लाख मौतों के करीब, एक बेहिसाब नुकसान। वे महज एक लिस्ट में शामिल नहीं थे, वे हम सब थे।’’
अखबार ने लिखा कि यहां जिन एक हजार लोग के नाम हैं वे कुल मौतों का सिर्फ 1% हैं। यह लिस्ट इतनी लंबी थी कि अखबार के 12 वें पेज तक मृतकों के नाम लिखे थे। इन लोगों का नाम, उम्र और पता के बाद उनके बारे में एक लाइन लिख कर उन्हें याद किया गया था। 

न्यूयॉर्क टाइम्स के संडे इडिशन में तस्वीरें और खबरों की जगह कोरोना से मरने वाले 1 हजार लोगों के नाम थे।

अखबार का फ्रंट पेज सोशल मीडिया में वायरल

न्यूयॉर्क टाइम्स ने अपने इस आर्टिकल में लिखा कि सिर्फ संख्या के आधार पर वायरस का अमेरिका पर असर मापा नहीं जा सकता। चाहे मृतकों , मरीजों या इसकी वजह से नौकरियां गंवानें वालों की संख्या क्यों न हो। अखबार ने शनिवार देर रात जैसे ही अपने फ्रंट पेज का स्क्रीन शॉट जारी किया, यह सोशल मीडिया में वायरल हो गया। सोशल मीडिया यूजर्स ने मृतकों को याद करने के इस अनूठे तरीके के लिए अखबार को धन्यवाद दिया

मृतकों को इस अंदाज में याद किया गया:

  • राेमी कॉन, 91, न्यूयॉर्क सिटी, गेस्टापो से 56 यहूदी परिवारों को बचाया था।
  • अल्बर्ट पेट्रोसेली,73, न्यूयॉर्क सिटी के एक चीफ, जिन्हों 9/11 के दुर्भाग्यपूर्ण दिन आए कॉल का जवाब दिया था।
  • सेड्रिक डिक्सन,48, न्यूयॉर्क सिटी, हार्लेम के एक पुलिस डिक्टेटिव जिनके पास पूछताछ का गिफ्ट था।
  • बैसी ऑफिओंग,25, जिसने अपने दोस्त की बदतर हालत देखी और उनका सर्वश्रेष्ठ सामने लेकर आए।
  • चार्ल्स कॉन्स्टैंटिनो,86, मेनलो पार्क, एनजे, न्यूयॉर्क टाइम्स के साथ 40 सालों तक काम किया। 

9/11 के बाद भी ऐसे ही मृतकों को याद किया था

न्यूयॉर्क टाइम्स ने दूसरी बार इस अंदाज में इस तरह का काम किया है। इससे पहले 2011 के 9 सितंबर को वर्ल्ड ट्रेड सेंटर पर हुए हमले में मारे गए लोगों को ऐसे ही श्रद्धांजलि दी थी। इस हमले में 2 हजार 977 लोगों की मौत हुई थी और 25 हजार से ज्यादा लोग घायल हुए थे। 

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *