नेश्नल डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
अद्यतित मंगल, 12 मई 2020 11:33 PM IST

ख़बर सुनता है

कोरोनावायरस परिस्थिति के दौरान एक हैरान करने वाली घटना सामने आई है। सेना के एक जवान ने मंगलवार को अस्पताल में पेड़ से लपक आत्महत्या कर ली। पुलिस के मुताबिक यह युवा कोरोनावायरस से सतर्क था, जिसका अस्पताल में इलाज चल रहा था।

पुलिस की तरफ से बताया गया है कि 31 साल के इस युवा को फेफड़े का कैंसर भी था। इसका यहां के विधान उदय अस्पताल में इलाज चल रहा था।

उनका कहना है कि युवा के नमूनों को को विभाजित -19 जांच के लिए भेजा गया था और रिपोर्ट के बाद इसमें कोरोनावायरस के संक्रमण पाए गए हैं।]पुलिस के मुताबिक जवान के खुदकुशी की सूचना मंगलवार तड़के सुबह चार बजे नरायना पुलिस थाने को दी गई।

पुलिस उपायुक्त (पश्चिम) दीपक पुरोहित ने इस मामले में बताया कि जब पुलिस मौके पर पहुंची तो जवान का शव को विभाजित -19 वार्ड के पीछे याहू की रस्सी से पेड़ से लटका मिला। घटनास्थल पर पुलिस को कोई भी नोट नहीं मिला।

पुलिस के मुताबिक मृतक का परिवार राजस्थान के अलवर जिले में रहता है। परिवार को जवान के मौत की घटना की सूचना दे दी गई है।

कोरोनावायरस परिस्थिति के दौरान एक हैरान करने वाली घटना सामने आई है। सेना के एक जवान ने मंगलवार को अस्पताल में पेड़ से लपक आत्महत्या कर ली। पुलिस के मुताबिक यह युवा कोरोनावायरस से सतर्क था, जिसका अस्पताल में इलाज चल रहा था।

पुलिस की तरफ से बताया गया है कि 31 साल के इस युवा को फेफड़े का कैंसर भी था। इसका यहां के विधान उदय अस्पताल में इलाज चल रहा था।

उनका कहना है कि युवा के नमूनों को को विभाजित -19 जांच के लिए भेजा गया था और रिपोर्ट के बाद इसमें कोरोनावायरस के संक्रमण पाए गए हैं।]पुलिस के मुताबिक जवान के खुदकुशी की सूचना मंगलवार तड़के सुबह चार बजे नरायना पुलिस थाने को दी गई।

पुलिस उपायुक्त (पश्चिम) दीपक पुरोहित ने इस मामले में बताया कि जब पुलिस मौके पर पहुंची तो जवान का शव को विभाजित -19 वार्ड के पीछे याहू की रस्सी से पेड़ से लटका मिला। घटनास्थल पर पुलिस को कोई भी नोट नहीं मिला।

पुलिस के मुताबिक मृतक का परिवार राजस्थान के अलवर जिले में रहता है। परिवार को जवान के मौत की घटना की सूचना दे दी गई है।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *