वाशिंगटन: अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा कोरोनावायरस (कोरोनावायरस) वैश्विक महामारी से सामना के देश के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के तरीके को लेकर उनकी कड़ी आलोचना की है।

ओबामा ने अपने पूर्व प्रशासन के सदस्यों के साथ बातचीत के दौरान ट्रम्प के पहले राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार माइकल फ्लिन के खिलाफ न्याय मंत्रालय द्वारा आपराधिक मामला समाप्त किए जाने के बारे में भी कहा है कि के कानून के शासन की मूलभूत समझ को खतरा है। ‘

ओबामा ने अपने समर्थकों से राष्ट्रपति पद के चुनाव में पूर्व उपराष्ट्रपति जो बिडेन का समर्थन करने की अपील की। तीन नवंबर को होने वाले चुनाव में ट्रंप के खिलाफ मैदान में उतरने की संभावना है।

ओबामा ने कहा, स्वार्थ हम स्वार्थी होने, विभाजित होने और दूसरों को शत्रु की तरह देखने जैसी लंबी अवधि से चली आ रही लड़ाई से लड़ रहे हैं और ये प्रवृत्तियां अमेरिकी जीवन में मजबूती से घर बना चुकी है। हम आंतरिक स्तर पर भी यही देख रहे हैं। इसका एक कारण यह है कि इस वैश्विक संकट को लेकर विकलांगता और कार्रवाई इतनी कमजोर और जर्जर है। ‘

ये भी पढ़ें- अमेरिकी विदेश मंत्री पोम्पियो का बड़ा दावा, चीन अब भी छिपा हुआ रिहा है कोरोना मरीजों के आंकड़े

उन्होंने कहा, ‘यह पूरी तरह से अराजकतापूर्ण आपदा है क्योंकि समानता यह है कि इसमें मेरे लिए क्या है।’

उल्लेखीय है कि जॉन्स टर्मिनकिन्स यूनिवर्सिटी के अनुसार अमेरिका में इस संक्रमण से 78,400 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है और 13 लाख से अधिक लोग इससे प्रभावित हैं।

(इनपुट- भाषा)





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *