कोरोना; कोरोनावाइरस ; लॉकडाउन ; रेस्तरां उद्योग; रेस्तरां उद्योग Swiggy और zomato जैसे खाद्य एग्रीगेटर्स के साथ प्रतिस्पर्धा करने के लिए एकजुट हुआ, ऑनलाइन फूड डिलीवरी प्लेटफॉर्म बना, डिजिटल प्लेटफॉर्म से जुड़ने के लिए 5 लाख रेस्तरां | स्विगी और जोमेटौ जैसे खाद्य एग्रीगेटर्स को टक्कर देने के लिए रेस्तरां इंंडस्ट्री हुई एकजुट होकर, बना रही है अन्न खाद्य पदार्थ प्लेटफाॅर्म, 5 लाख रेस्टोरेंट जुड़ेंगे डिजिटल प्लेटफॉर्म से


  • नेशनल रेस्टोरेंट्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया देशभर के 5 लाख से अधिक रेस्तरां का प्रतिनिधित्व करती हैं
  • अनुराग ने बताया कि वे नहीं चाहते हैं कि रेस्तरां किसी अन्य खाद्य एग्रीगेटर्स पर निर्भर रहें।

दैनिक भास्कर

07 मई, 2020, शाम 04:20 बजे IST

नई दिल्ली। नेशनल रेस्तरां एसोसिएशन ऑफ इंडिया (एनआरएआई) टेक्नोलाजी प्लेटफाॅर्म पर काम कर रहा है। लॅकडाउन के बाद रेस्तरां एसोसिएशन स्विगी और जोमेटौ जैसे खाद्य एग्रीगेटर्स पर अपनी निर्भरता को कम करने के लिए ऑनलाइन आवेदन, खाद्य वितरण, लॉयल्टी प्रोग्राम और कैटरैक्टलेस डाइनिंग (संपर्क रहित खाद्य) जैसे विकल्प शुरू करेंगे। बता दें कि देशभर के 5 लाख से अधिक रेस्तरां का प्रतिनिधित्व करने वाली नेशनल रेस्टोरेंट्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया ने यह कदम ऐसे समय में उठाया है जब सख्त देशव्यापी लॉकडाउन के कारण रेस्तरां उद्योग को भारी नुकसान झेलना पड़ रहा है।

लाकडाउन के बाद रेस्तरां उद्योग डिजिटल कारोबार करेगा
लाकडाउन के बाद एसोसिएशन अपने कारोबार में बदलाव लाने पर विचार कर रही है। एनआरएआई के अध्यक्ष अनुराग कटियार ने कहा कि जल्द ही हम डिजिटल प्लेटफाॅर्म के जरिए कारोबार करेंगे। इसके लिए रेस्तरां एसोसिएशन ने एक टीम का गठन किया है। अनुराग ने बताया कि वे नहीं चाहते हैं कि रेस्तरां किसी अन्य खाद्य एग्रीगेटर्स पर निर्भर रहें। फूड एग्रीगेटर्स ने रेस्तरां उद्योग के लिए परेशानी खड़ी कर दी है इसलिए अब सभी रेस्तरां को कारोबार के लिए डिजिटल प्लेटफॉर्म से जोड़ा जाएगा। अनुराग का कहना है, ‘इससे ​​रेस्तरां के डेटा पर सिर्फ हमारा मालिकाना हक रहेगा।’ यानी अब रेस्तरां और ग्राहक के बीच कोई खाद्य एग्रीगेटर्स नहीं रहेगा।

वातसऐप, फेसबुक से जुड़कर करोबार करना चाहता है
अनुराग ने बताया कि एसोसिएशन अन्य वैकल्पिक प्रस्ताव और लॉजिस्टिक्स कंपनियों के साथ साझेदारी पर काम भी कर रही है। यहां तक ​​कि रेस्तरां वाएट्सएप, फेसबुक और इंस्टाग्राम जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म से भागीदारी को लेकर विचार कर रही है ताकि ग्राहक एकदम सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के जरिए खाना पकाने और डाइनिंग का लाभ उठा सके। साथ ही डिजिटल प्लेटफॉर्म पर ग्राहकों को विकलांगता और नाकाम कमीशन सहित अन्य ऑफ़र की सुविधा भी दी जाएगी।

लॅकडाउन के बाद जोमाटो शुरू होगा ‘कॉन्टैक्टलेस डाइनिंग’
हाल ही में खाद्य सेवा एग्रीगेटर व प्रसाद ऐप जोमाटो ने ‘कॉन्टैक्टलेस डाइनिंग’ सेवा शुरू करने का ऐलान किया है। जोमातो की यह पहल सोशल डिस्टेंसिंग को बढ़ावा देने के लिए है। इसके पहल के तहत ग्राहक अपने मेनू को जोमैटो ऐप के जरिए प्री-बुक कर सकते हैं। ऐप के जरिए ग्राहक रेस्तरां पहुंच कर भी मेनू सेलेक्ट कर सकते हैं। इतना ही नहीं वे रेस्तरां में बैठने के लिए भी ऐप के माध्यम से ही सीट बुक कर पाएंगे। कंपनी अपने ऐप में नए फीचर्स जोड़ने की दिशा में काम कर रही है। मेनू कार्ड और बिल भुगतान को पूरी तरह से रद्द करें किया जाएगा। यानी ग्राहक बिना मेनू कार्ड को टच किए ही ऐप पर बार बार कोड के माध्यम से खाना नंबर कर सकते हैं। टेबल पर कस्टमर तक खाना बेहद सेफ और नियमों का पालन करते हुए पहुंचाया जाएगा। भुगतान की प्रक्रिया पूरी तरह से डिजिटली होगी।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *