न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
अपडेटेड थू, 07 मई 2020 06:02 PM IST

दिल्ली एम्स के निदेशक डॉ। रणदीप गुलेरिया
– फोटो: एएनआई

ख़बर सुनता है

एम्स के निदेशक डॉ। रणदीप गुलेरिया ने गुरुवार को कहा कि जून-जुलाई में कोरोनावायरस के मामले चरम पर पहुंच सकते हैं। उन्होंने कहा कि आंकड़ों को देखते हुए और जिस तरह से भारत में कोरोना के रोगियों की वृद्धि हो रही है, जून-जुलाई में महामारी अपने चरम पर होगी।

उन्होंने कहा कि आंकड़ों के मुताबिक, इसमें कई बदलाव भी हो सकते हैं। केवल समय के साथ ही पता चल रहा पाएगा कि यह कितना प्रभावी होगा और लॉकडाउन बढ़ाने के इस पर क्या असर पडेगा।

कुल 52,952 कोरोनायर
केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के अनुसार, भारत में अबतक 52,952 कोरोनाटे रोगी हैं और 1,783 लोगों की मौत हुई है। अभी भारत में 35902 सक्रिय मामले हैं, जबकि 15266 मरीज ठीक हो चुके हैं और उन्हें छुट्टी दी गई है। महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा 16758 मरीज हैं, इसके बाद गुजरात में 6652 और दिल्ली में 5532 कोरोना मरीज हैं।

एम्स के निदेशक डॉ। रणदीप गुलेरिया ने गुरुवार को कहा कि जून-जुलाई में कोरोनावायरस के मामले चरम पर पहुंच सकते हैं। उन्होंने कहा कि आंकड़ों को देखते हुए और जिस तरह से भारत में कोरोना के रोगियों की वृद्धि हो रही है, जून-जुलाई में महामारी अपने चरम पर होगी।

उन्होंने कहा कि आंकड़ों के मुताबिक, इसमें कई बदलाव भी हो सकते हैं। केवल समय के साथ ही पता चल रहा पाएगा कि यह कितना प्रभावी होगा और लॉकडाउन बढ़ाने के इस पर क्या असर पडेगा।

कुल 52,952 कोरोनायर

केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के अनुसार, भारत में अबतक 52,952 कोरोनाटे रोगी हैं और 1,783 लोगों की मौत हुई है। अभी भारत में 35902 सक्रिय मामले हैं, जबकि 15266 मरीज ठीक हो चुके हैं और उन्हें छुट्टी दी गई है। महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा 16758 मरीज हैं, इसके बाद गुजरात में 6652 और दिल्ली में 5532 कोरोना मरीज हैं।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *