न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
अपडेटेड सत, 09 मई 2020 08:15 PM IST

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन (फाइल फोटो)
– फोटो: एएनआई

ख़बर सुनता है

वैश्विक महामारी कोरोनावायरस के प्रसार को देश में रोकने के लिए अब भारत जांच की गति बढ़ाने पर ध्यान दे रहा है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ। हर्षवर्धन ने शनिवार को बताया कि देश में इस समय को विभाजित -19 की करीब 95 हजार जांच रोज की जा रही हैं। इसके अलावा देश में अभी तक 332 सरकारी और 121 निजी अस्पतालों में 15 लाख 25 हजार 631 टेस्ट हो चुके हैं।

एक बयान के मुताबिक देश के उत्तर-पूर्वी राज्यों में कोरोना संक्रमण की स्थिति और इसे रोकने के लिए उठाए गए कदमों की समीक्षा कर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने इस बात पर भी जोर दिया कि संक्रमण पर नियंत्रण पाने के लिए तंबाकू और सार्वजनिक स्थानों पर थूकने पर जोर दिया जाए। पर रोक लगानी होगी और इसके लिए उचित कदम उठाने की जरूरत है।

कुछ राज्यों में तंबाकू के चलन और विभिन्न स्थानों पर थूकने की समस्या को लेकर उन्होंने कहा कि इसे लेकर कड़े कदम उठाने की आवश्यकता है। इस दौरान राज्यों ने जांच सुविधा केंद्र, स्वास्थ्य सेवाएं, सेवाएं और संपर्क से संक्रमण जैसे मुद्दे उठाए। शनिवार की सुबह आठ बजे तक त्रिपुरा में कोरोना के 118, मेघालय में 12, असम में 59, मणिपुर में दो, मिजोरम व अरुणचल में एक-एक मामला सामने आया है। वहीं, मेघालय और असम में एक-एक व्यक्ति की मौत हुई है।

अरुणाचल प्रदेश, असम, मणिपुर, मेघालय, मिजोरम, नगालैंड, त्रिपुरा और सिक्किम के साथ हुई इस उच्चस्तरीय बैठक में स्वास्थ्य मंत्री ने सभी राज्यों में कोरोनावायरस के खिलाफ जंग में इन प्रयासों द्वारा किए गए प्रयासों की सराहना की है। उन्होंने कहा, ज्यादातर उत्तर-पूर्वी राज्यों में ग्रीन जोन की बढ़ती संख्या देखने के लिए बहुत बड़ी राहत है। अब केवल असम और त्रिपुरा में को विभाजित -19 के पॉजिटिव मामले हैं। ‘

वैश्विक महामारी कोरोनावायरस के प्रसार को देश में रोकने के लिए अब भारत जांच की गति बढ़ाने पर ध्यान दे रहा है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ। हर्षवर्धन ने शनिवार को बताया कि देश में इस समय को विभाजित -19 की करीब 95 हजार जांच रोज की जा रही हैं। इसके अलावा देश में अभी तक 332 सरकारी और 121 निजी अस्पतालों में 15 लाख 25 हजार 631 टेस्ट हो चुके हैं।

एक बयान के मुताबिक देश के उत्तर-पूर्वी राज्यों में कोरोना संक्रमण की स्थिति और इसे रोकने के लिए उठाए गए कदमों की समीक्षा कर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने इस बात पर भी जोर दिया कि संक्रमण पर नियंत्रण पाने के लिए तंबाकू और सार्वजनिक स्थानों पर थूकने पर जोर दिया जाए। पर रोक लगानी होगी और इसके लिए उचित कदम उठाने की जरूरत है।

कुछ राज्यों में तंबाकू के चलन और विभिन्न स्थानों पर थूकने की समस्या को लेकर उन्होंने कहा कि इसे लेकर कड़े कदम उठाने की आवश्यकता है। इस दौरान राज्यों ने जांच सुविधा केंद्र, स्वास्थ्य सेवाएं, सेवाएं और संपर्क से संक्रमण जैसे मुद्दे उठाए। शनिवार की सुबह आठ बजे तक त्रिपुरा में कोरोना के 118, मेघालय में 12, असम में 59, मणिपुर में दो, मिजोरम व अरुणचल में एक-एक मामला सामने आया है। वहीं, मेघालय और असम में एक-एक व्यक्ति की मौत हुई है।

अरुणाचल प्रदेश, असम, मणिपुर, मेघालय, मिजोरम, नगालैंड, त्रिपुरा और सिक्किम के साथ हुई इस उच्चस्तरीय बैठक में स्वास्थ्य मंत्री ने सभी राज्यों में कोरोनावायरस के खिलाफ जंग में इन प्रयासों द्वारा किए गए प्रयासों की सराहना की है। उन्होंने कहा, ज्यादातर उत्तर-पूर्वी राज्यों में ग्रीन जोन की बढ़ती संख्या देखने के लिए बहुत बड़ी राहत है। अब केवल असम और त्रिपुरा में को विभाजित -19 के पॉजिटिव मामले हैं। ‘





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *