प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को देश की जनता को संबोधित करते हुए 20 लाख करोड़ रुपये के विशेष आर्थिक पैकेज की घोषणा की। इसमें वित्त मंत्रालय और आरबीआई की ओर से घोषित राहत पैकेज भी शामिल है। कांग्रेस ने इसे लेकर सरकार को घेरना शुरू कर दिया है और इसकी तुलना 15 लाख रुपये वाले वादे से की है।

चिदंबरम ने ट्वीट किया, ‘मंगलवार को प्रधानमंत्री ने हमें एक हेडलाइन दी और एक खाली पन्ना छोड़ दिया। प्राकृतिक रूप से मेरी प्रतिक्रिया भी उसी खाली पृष्ठों की तरह होगी। आज हम उस खाली पन्ने को भरने के लिए वित्त मंत्री की तरफ देख रहे हैं। हम ध्यान से उस हर अतिरिक्त रुपये को गिनेंगे जो सरकार मूल रूप से अर्थव्यवस्था में काटगी। हम इसके भी गिरने से करेंगे कि क्या मिलेगा? ‘

पूर्व वित्त मंत्री ने कहा कि पहली बात यह है कि यह वैदिक, भूखे और तावाह प्रवासी मजदूर सैकड़ों किलोमीटर पैदल चलने के बाद क्या उम्मीद कर सकते हैं? हम यह देखते हैं कि निचले हिस्से की जनसंख्या (13 करोड़ परिवार) को मूल धन के मामले में क्या मिलेगा?

भाजपा जनता को टोपी पहनाने और दिन में तारे दिखाने में मदद करती है
वहीं, कांग्रेस प्रवक्ता जयवीर सिंहगिल ने कहा कि सभी जनधन खातों में 7500 रुपये जमा होने के बाद जनता को सरकार की घोषणा और विश्वास होगा। उन्होंने एक बयान में आरोप लगाया कि भाजपा जनता को टोपी पहनाने और दिन में तारे दिखाने में मदद मिलती है।

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि हमें उम्मीद है कि 20 लाख करोड़ रुपये का पैकेज, भाजपा की प्रोमखिलाफी का एक और उदाहरण साबित नहीं होगा।

शेरगिल के मुताबिक, उम्मीद की जाती है कि यह पैकेज उसी कारखाने में नहीं बना है जहां 15 लाख रुपये का प्रोमो किया गया था, गंगा की सफाई का वादा किया गया था, दो करोड़ रुपये देने का वादा किया गया था और कालाधन वापस लाने का वादा किया था। किया गया था। जनता अब केवल विश्वास करेगी जब हर जनधन खाते में 7500 रुपये डाले जाएंगे।

उन्हें उम्मीद है कि जताते हुए कहा जाएगा कि इस बार जनता को ठगा नहीं होगा और वित्त मंत्री की ओर से घोषित पैकेज और प्रधानमंत्री के शब्दों में तालमेल होगा और कथनी और करनी में अंतर नहीं होगा।

आज शाम 4 बजे टेलरए वित्त मंत्री
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण आज शाम चार बजे इस संबंध में प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगी। इसमें उसने बताया कि 20 लाख करोड़ रुपये के आर्थिक पैकेज का इस्तेमाल किन-किन क्षेत्रों में किया जाएगा और कितनी राशि मिलेगी।

महत्वपूर्ण कड़ी के अनुसार काम करेगा पैकेज
देश को संंबधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा था कि हर तबके के लिए आर्थिक पैकेज में महत्वपूर्ण एलान किया जाएगा। इसकी विस्तृत जानकारी वित्त मंत्रालय की तरफ से दी जाएगी। पीएम मोदी ने कहा, ये पैकेज आत्मनिर्भर भारत अभियान की महत्वपूर्ण कड़ी के तौर पर काम करेगा। हाल में सरकार ने कोरोना संकट से जुड़ी जो आर्थिक घोषणाएं की थीं और आज जिस पैकेज का एलान हो रहा है, उसे जोड़ दें तो ये करीब 20 लाख करोड़ रुपये का है। ये पैकेज भारत की जीडीपी का लगभग 10 प्रतिशत है।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *