चित्र स्रोत: PTI / FILE PHOTO

ट्राई ने ऑनलाइन कॉन्फ्रेंस में शामिल होने वाले लोगों के लिए नई एडवाइजरी जारी की है।

टेलीकॉम रेगुलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया (ट्राई) ने ऑडियो कॉल के जरिए ऑनलाइन कॉन्फ्रेंस प्लेटफॉर्म से जुड़ने के दौरान लोगों को उचित देखभाल करने के लिए एडवाइजरी जारी की है, कुछ उपभोक्ताओं ने बिल के झटके महसूस करने के बाद जब वे ऑनलाइन कॉन्फ्रेंसिंग प्लेटफॉर्म से अनजाने में अंतरराष्ट्रीय नंबर डायल करते हैं।

यह देखते हुए कि COVID-19 के प्रसार की जांच के लिए जारी लॉकडाउन के कारण बड़ी संख्या में जनता ऑनलाइन कॉन्फ्रेंसिंग प्लेटफार्मों का उपयोग कर रही है। यहां जानिए ट्राई की गुडि़लाइन्स:

  • ऐसे प्लेटफार्मों / ऐप प्रदाताओं के ऐसे नंबरों / हेल्पलाइनों को डायल करने के लिए लागू शुल्क की जांच करने के लिए उन्हें सचेत करना आवश्यक है।
  • घटनाओं से यह भी पता चला है कि ऐसे कुछ सेवा प्रदाताओं के ग्राहक देखभाल केंद्र या तो प्रीमियम नंबर या अंतरराष्ट्रीय नंबर हैं। जाहिर है, जनता के सदस्य जो अनजाने में इस तरह की सेवाओं का उपयोग करते हैं, उन्हें प्रीमियम नंबर या अंतरराष्ट्रीय नंबर पर लागू उच्च दर का भुगतान करना पड़ सकता है जो कि आईएसडी टैरिफ का आवेदन होगा।
  • जनता के सदस्यों को सलाह दी जाती है कि वे ऑनलाइन कॉन्फ्रेंसिंग प्लेटफार्मों द्वारा प्रदान की जाने वाली डायल-इन सेवा का उपयोग करने से पहले नियम और शर्तों की सावधानीपूर्वक जाँच करें और वॉयस कॉल के लिए टैरिफ के मामले में इस तरह के प्लेटफॉर्म के ग्राहक देखभाल केंद्र को लागू करने के लिए लागू लागत और अन्य शुल्क जो लागू हो सकते हैं सेवा प्रदाताओं द्वारा।
  • इस संबंध में कोई भी अनजाने में चूक से महत्वपूर्ण बिलों को झटका लग सकता है।
  • जनता के सभी सदस्यों को सलाह दी जाती है कि वे पूरी सावधानी बरतें और ऑनलाइन कॉन्फ्रेंसिंग सेवाओं का उपयोग करने के लिए नियमों और शर्तों के विवरण से अवगत कराएं। ऑनलाइन नंबर जोड़ने के लिए वॉइस कॉल करना होगा। ऐसी प्रत्येक सेवा के लिए टैरिफ लागू है।

नवीनतम व्यापार समाचार

कोरोनावायरस के खिलाफ लड़ाई: पूर्ण कवरेज





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *