• एमआईटी ने इसकी तुलना 25 अन्य देशों के कोविड ऐप से की है
  • चीन पांच मानकों पर किसी एक में भी स्क करने में नाकाम रहा

दैनिक भास्कर

11 मई, 2020, 11:47 AM IST

नई दिल्ली। आरोग्य सेतु ऐप को अमेरिका स्थित मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजीज (एमआईटी) ने रिव्यू में 5 में से 2 रेटिंग दी है। एमआईटी ने इसकी तुलना 25 अन्य देशों के को विभाजित ऐप से की है। यह मार्गदर्शन और वॉलंटरी यूज के मानकों पर खरा नहीं उतरा। एमआईटी ने दुनिया भर में कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग ऐप्स के रेटिंग जारी की है। इसके लिए एप्लिकेशन को अमल में लाने के तरीके, डेटा की समीक्षा, गोपनीयता और विस्तार से जुड़ी चीजों को ध्यान में रखा गया।

5 प्रश्न से हुआ ऐप का डेटालैन
सभी ऐप का आकलन 5 सवालों के आधार पर किया गया। ये प्रश्न ऐप के स्वैच्छिक या अनिवार्य होने, डेटा के उपयोग, कलेक्ट किए गए डेटा को समय से सुझट किया जाना, डेटा की विविधता व मात्रा और ऐप से जुड़ी सुरक्षा से जुड़े थे। एमआईटी विशेषज्ञों के अनुसार भारत का आरोग्य सेतु जिन दो पैमानों पर खरा साबित हुआ वो हैं- समय से यूजर्स का डेटा एमएसट करना और सिर्फ उपयोगी डेडााइज का कलेक्शन। वहीं आरोग्य सेतु स्वैच्छिक उपयोग, डेटा उपयोग की सीमाएं और पारदर्शी नियमों पर स्कोर करने में नाकाम रहा। इस कारण इसे 5 में से 2 रेटिंग मिली।

सिंगापुर और ऑस्ट्रेलिया सहित 7 को 5 रेटिंग मिली
जिन देशों के कोविद -19 ऐप्स ने इस ट्रैकर पर पांच में से पांच अंक हासिल किए उनमें सिंगापुर, ऑस्ट्रेलिया, भारत, इजराइल, चेक गणराज्य, आइसलैंड और ऑस्ट्रिया शामिल हैं। चीन पांच मानकों पर किसी एक में भी स्कटिंग में नाकाम रहा है, जबकि फ्रांस, आयरिश और ईरान सिर्फ एक मापदंड पर स्कैटिंग में सफल रहे हैं।

Google के प्ले स्टोर पर 4.5 रेटिंग
Google के प्ले स्टोर प्लेटफॉर्म पर इसे 5 में से 4.5 रेटिंग मिली है। आरोग्य सेतु ऐप के लिए ऐप्पल के ऐप स्टोर पर एप्रूवल रेंटिंग भी 5 में से 4.2 के। भारत में मौजूदा स्थिति में ऐप के करीब 10 करोड़ यूजर्स हैं।

आरोग्य सेतु ऐप के बारे में
सरकार का यह ऐप लोगों को कोरोनावायरस संक्रमण के खतरे और जोखिम का आकलन करने में मदद करता है। इटंडा और आईप दोनों तरह के शरमार्टॉ पर डाउनलोड किया जा सकता है। यह विशेष ऐप आसपास मौजूद मौजूद कोरोना पॉजिटिव लोगों के बारे में पता लगाने में मदद करेगा। आपके मोबाइल के ब्लूटूथ, स्थान और मोबाइल नंबर का उपयोग करके ऐसा किया जाता है।

आरोग्य सेतु ऐप का उपयोग कैसे करना है?
आरोग्य सेतु ऐप में एक चैटबॉट भी है, जिसमें उपयोगकर्ता को कोरोना महामारी से जुड़े सवालों के सही जवाब देते हैं। इसके माध्यम से न सिर्फ यूजर अपने अंदर कोरोना के लक्षणों की पहचान कर सकेगा बल्कि ऐप यह भी पता लगाता है कि जाने-अनजाने में यूजर किसी कोरोना संभावित व्यक्ति के संपर्क में तो नहीं आए। इसके आधार पर यह उपयोगकर्ता को अगला कदम उठाने की सलाह देता है। अगर यूजर ‘हाई रिस्क’ एरिया में हैं तो ऐप उसको कोरोनावायरस टेस्ट कराने, हेल्पलाइन पर फोन करने और नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पर जाने के लिए सलाह देता है। इसके लिए ऐप को कोरोना पीड़ितों के डेटाबेस से जोड़ा गया है, हालांकि यह धीरे-धीरे ऐप खुद का डेटाबेस भी तैयार करेगा। ऐप यूजर को इस महामारी से बचाने के टिप्स देती है लेकिन सकारात्मक पाया जाने पर सरकार तक जानकारी पहुंचती है।

11 भाषाओं को पूरक करता है
कोरोना ट्रैकर ऐप आरोग्य सेतु वर्तमान में 11 भाषाओं में काम कर रहा है। इसमें हिंदी और अंग्रेजी भी शामिल हैं। यह ब्लूटूथ और लोकेशन एक्सेसरी कर काम करता है। इसका उपयोग करने के लिए सबसे पहले उपयोगकर्ता को मोबाइल नंबर से ऐप में रेगर्ड होना होगा। इसके बाद ऐप उपयोगकर्ता से कुछ निजी बदलावों की मांग जोकि ऑप्शनल है। प्राइवेसी के बात करें तो सरकार का दावा है कि ऐप पर सभी महत्वपूर्ण बदलाव इन स्वीकृत फॉर्म में स्टोर होंगे और किसी थर्ड पार्टी वेंडर के साथ उन्हें शेयर नहीं की जाएगी।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *