• उत्तर कोरिया ने कहा- हमारे खिलाफ चलाए जा रहे प्रोपेगेंडा को रोकने में नाकाम रहा दक्षिण कोरिया
  • 2018 में ही दोनों देशों के बीच कम्युनिकेशन लाइन स्थापित हुई थीं, बेहतर हुए थे रिश्ते

दैनिक भास्कर

Jun 09, 2020, 11:52 AM IST

सियोल. उत्तर कोरिया ने मंगलवार को दक्षिण कोरिया से सभी तरह का संपर्क बंद करने का फैसला किया। उत्तर कोरिया ने कहा- हम दक्षिण कोरिया से जुड़ी हॉटलाइन समेत सभी कम्युनिकेशन लाइनें बंद कर रहे हैं। वो अब हमारा दुश्मन देश है। दक्षिण कोरिया हमारे खिलाफ प्रोपेगेंडा चलाने वालों को नहीं रोक पाया।

खास बात ये है कि दक्षिण कोरिया ने इस मामले पर बातचीत के लिए उत्तर कोरियाई अफसरों को फोन भी किया लेकिन, वहां किसी ने फोन ही रिसीव नहीं किया। दक्षिण कोरिया ने कहा, ‘‘मंगलवार को उत्तर कोरिया से फोन पर संपर्क की कोशिश की गई। लेकिन, कोई जवाब नहीं मिला।’’ रक्षा मंत्रालय के मुताबिक, उत्तर कोरिया ने मिलिट्री हॉटलाइंस पर की गईं कॉल्स का भी जवाब नहीं दिया।

दुश्मन देश का टैग दिया
उत्तर कोरिया ने कहा- हम दक्षिण कोरिया को अब दुश्मन देश ही मानेंगे, उसी हिसाब से बर्ताव किया जाएगा। प्योंगयांग की न्यूज एजेंसी ने कहा- दक्षिण कोरिया के अफसरों का रवैया गैरजिम्मेदाराना है। उनकी मिलीभगत का फायदा उठाकर हमारे विरोधी सक्रिय हैं। इन्होंने हमारी टॉप लीडरशिप का अपमान किया। इन्हें माफ नहीं किया जा सकता। इसकी बड़ी कीमत चुकानी होगी। अब दक्षिण कोरिया से कोई बातचीत नहीं की जाएगी।  

किम जोंग और उनकी बहन की मौजूदगी में फैसला लिया गया
रिपोर्ट के मुताबिक, कम्युनिकेश लाइन खत्म करने का फैसला नॉर्थ कोरिया के तानाशाह किम जोंग-उन और उनकी बहन किम यो-जोंग की मौजूदगी में लिया गया। रिपोर्ट में कहा गया- यह कदम दक्षिण कोरिया के साथ सभी रिश्ते पूरी तरह से खत्म करने की दिशा में पहला कदम है। 

2018 में बनाई गई थी कम्युनिकेशन लाइन
उत्तर और दक्षिण कोरिया ने दो साल पहले कम्युनिकेशन लाइन बनाईं थीं। तब दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जे-इन और किम जोंग-उन के बीच तीन मीटिंग हुईं थीं। इसी दौरान उत्तर कोरिया ने दक्षिण कोरिया को दुश्मन से दोस्त देश का दर्जा दिया था। पिछले साल फरवरी तक दोनों देशों के संबंध ठीक रहे। अमेरिका और नॉर्थ कोरिया की बातचीत विफल हुई तो दक्षिण कोरिया और उत्तर कोरिया के रिश्ते भी खराब हो गए।  

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *