• इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड ने कहा- हमारी परिस्थिति पर नजर है, सरकार की सलाह के मुताबिक रणनीति तय करेगी
  • वेस्टइंडीज के खिलाफ जून में होने वाले तीन मैचों की टेस्ट सीरीज को आगे बढ़ाया गया, पाकिस्तान दौरे के आगे बढ़ने की आशंका
  • कोरोना की वजह से 100-100 खिलाड़ियों के टूर्नामेंट ‘द हंड्रेड’ को एक साल के लिए टाला गया, अगर क्रिकेट नहीं हुआ तो एलबी को 3600 करोड़ के नुकसान की आशंका।

दैनिक भास्कर

11 मई, 2020, दोपहर 01:10 बजे IST

इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड (EB) ने कहा कि कोरोनावायरस के बीच क्रिकेट को फिर से शुरू करने के लिए वह ब्रिटिश सरकार के साथ मिलकर काम कर रहा है। EB ने पहले ही तरह तरह के क्रिकेट पर 1 जुलाई तक रोक लगा रखी है।

ईबी ने बयान जारी करते हुए कहा कि हमारी परिस्थिति पर नजर है। हम यह देख रहे हैं कि कैसे और कब क्रिकेट की शूटिंग हो सकती है। हम जल्द ही अपनी योजना सरकार से साझा करेंगे। हमें सरकार की घोषणा के बारे में पता है और हम उनकी सलाह के हिसाब से आगे की रणनीति तय करेंगे।

इंग्लैंड में 1 जून तक लॉकडाउन रहेगा

प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने रविवार को ही ऐलान किया था कि कोरोना की हस्तक्षेप के लिए देश में लागू लॉकडाउन 1 जून तक जारी रहेगा।

वेस्टइंडीज टीम के दौरे को भी आगे बढ़ाया गया
कोरोना की वजह से जून में वेस्टइंडीज के खिलाफ होने वाले तीन मैचों की घरेलू टेस्ट सीरीज को भी आगे बढ़ा दिया गया है। पाकिस्तान को भी जून के अंत में इंग्लैंड दौरे पर आना था। इसे भी कम से कम एक जुलाई तक के लिए टाल दिया गया है।

3600 करोड़ के नुकसान का अनुमान
कोविड -19 की वजह से अगर इस सीजन में मैच नहीं होते हैं तो ईबी को लगभग 3600 करोड़ का नुकसान हो सकता है। ईबी के चीफ एग्जीक्यूटिव टॉम हैरिसन ने बीते सप्ताह सांसदों को यह जानकारी दी थी।

देश में 800 दिन के व्यावसायिक क्रिकेट का नुकसान

हैरिसन के मुताबिक, कोरोना के कारण 1 जुलाई तक देश में प्रोफेशनल क्रिकेट पर पूरी तरह रोक है। ‘द हंड्रेड’ (100-100 गेंद का टूर्नामेंट) को भी अगले साल के लिए टाल दिया गया है। वहीं, लॉकडाउन की वजह से प्रोफेशनल क्लब को 800 दिन के क्रिकेट का नुकसान भी होगा।

अब तक 31 हजार लोगों की मौत
कोरोना के कारण ब्रिटेन में 31 हजार लोगों की मौत हो गई है। वहीं, दो लाख से अधिक संपत्ति हैं। अब तक पूरी दुनिया में इस वायरस से 41 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हैं, जबकि 3 लाख से ज्यादा दम टूट चुके हैं।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *