आरोप: हजारों मौतों के जिम्मेदार हैं ट्रम्प, चुनाव में लेना चाहते हैं फायदा

Bytechkibaat7

May 11, 2020 , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,


डोनाल्ड ट्रम्प (फाइल फोटो)
– फोटो: पीटीआई

ख़बर सुनता है

अमेरिकी दार्शनिक और भाषाविदानी और इतिहासकार प्रो। मम चोमस्की ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प पर सख्त टिप्पणी करते हुए उन्हें महामारी के कारण हजारों अमेरिकियों की मौत का जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने यहां कहा कि त्रिप ने कोरोना महामारी का अपनी चुनीवी संभावनाओं के लिए इस्तेमाल किया है।

प्रोफेसर चोमस्की को आधुनिक भाषा विज्ञान का पितामह भी कहा जाता है। उन्होंने कॉग्निटिव विज्ञान के क्षेत्र में भी काम किया और अब तक कुल 100 से बहुत अधिक पुस्तकें लिखी हैं। उन्होंने द गार्जियन को दिए एक साक्षात्कार में कहा कि औसत अमेरिकियों की पीठ में छुरा भोंककर ट्रम्प देश का गार्ड बनने की कोशिश कर रहे हैं।

प्रो। चोमस्की ने कहा, राष्ट्रपति ने अपनी ड्यूटी सही ढंग से नहीं रखी है। यहां तक ​​कि राज्यों के गवर्नरों को महामारी से लड़ने की जिम्मेदारी लेने को मजबूर किया गया। यह सब उनकी चुनावी रणनीति का हिस्सा है।

मानकर जारी किए गए फंड में कटौती हैं
जाने माने दार्शनिक चोमस्की ने कहा कि ट्रम्प अपने कार्यकाल में हर साल फंड में कटौती करते हैं लेकिन अब इसे बढ़ा दिया गया है।) ट्रम्प इस कटौती को जारी रखते हुए लोगों के हालात को दयनीय बना डालना चाहते हैं ताकि उनके प्राइमरी चुनाव के उम्मीदवारों की संपत्ति, काउंटी शक्ति और उनका लाभ संभव हो सके।

ट्रम्प का ओबामा पर निशाना, समर्थक पूर्वगामी
अमेरिकी न्याय मंत्रालय के पूर्व एनएसए माइकल फ्लिन के खिलाफ लगे सभी आरोपों की वापसी के बाद से ही ट्विटर पर राष्ट्रपति ट्रंप और बराक ओबामा के समर्थक अलाद गए हैं। ट्रंप समर्थक जहां ओबामागेट नाम से हैशटैग चला रहे हैं वहीं ओबामा के समर्थकों ने ट्रंपजीलसऑफओमाला हैशटैग किया हुआ है। दरअसल, फ्लिन पर आरोप था कि उन्होंने 2016 के अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में रूस के राजदूत सर्गेई व्हाक से फोन पर बात की थी।

उनके फोन को एफबीआई ने टैप भी किया था जिसमें फ्लिन क स्वाभाविक तौर पर रूस के साथ राजनैतिक मामलों पर डील कर रहे थे। लेकिन आरोपों की वापसी पर ओबामा ने आश्चर्य जताया और इसे उत्कृष्ट निर्णय करार दिया। जबकि ट्रंप ने इस टिप्पणी केे बाद ओबामागेट हैशटैग से जब ट्वीट किया तो सोशल मीडिया पर दोनों नेताओं के समर्थक भिड़ गए।

अमेरिकी दार्शनिक और भाषाविदानी और इतिहासकार प्रो। मम चोमस्की ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प पर सख्त टिप्पणी करते हुए उन्हें महामारी के कारण हजारों अमेरिकियों की मौत का जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने यहां कहा कि त्रिप ने कोरोना महामारी का अपनी चुनीवी संभावनाओं के लिए इस्तेमाल किया है।

प्रोफेसर चोमस्की को आधुनिक भाषा विज्ञान का पितामह भी कहा जाता है। उन्होंने कॉग्निटिव विज्ञान के क्षेत्र में भी काम किया और अब तक कुल 100 से बहुत अधिक पुस्तकें लिखी हैं। उन्होंने द गार्जियन को दिए एक साक्षात्कार में कहा कि औसत अमेरिकियों की पीठ में छुरा भोंककर ट्रम्प देश का गार्ड बनने की कोशिश कर रहे हैं।

प्रो। चोमस्की ने कहा, राष्ट्रपति ने अपनी ड्यूटी सही ढंग से नहीं रखी है। यहां तक ​​कि राज्यों के गवर्नरों को महामारी से लड़ने की जिम्मेदारी लेने को मजबूर किया गया। यह सब उनकी चुनावी रणनीति का हिस्सा है।

मानकर जारी किए गए फंड में कटौती हैं

जाने माने दार्शनिक चोमस्की ने कहा कि ट्रम्प अपने कार्यकाल में हर साल फंड में कटौती करते हैं लेकिन अब इसे बढ़ा दिया गया है।) ट्रम्प इस कटौती को जारी रखते हुए लोगों के हालात को दयनीय बना डालना चाहते हैं ताकि उनके प्राइमरी चुनाव के उम्मीदवारों की संपत्ति, काउंटी शक्ति और उनका लाभ संभव हो सके।

ट्रम्प का ओबामा पर निशाना, समर्थक पूर्वगामी
अमेरिकी न्याय मंत्रालय के पूर्व एनएसए माइकल फ्लिन के खिलाफ लगे सभी आरोपों की वापसी के बाद से ही ट्विटर पर राष्ट्रपति ट्रंप और बराक ओबामा के समर्थक अलाद गए हैं। ट्रंप समर्थक जहां ओबामागेट नाम से हैशटैग चला रहे हैं वहीं ओबामा के समर्थकों ने ट्रंपजीलसऑफओमा हैशतैग में हुआ है। दरअसल, फ्लिन पर आरोप था कि उन्होंने 2016 के अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में रूस के राजदूत सर्गेई व्हाक से फोन पर बात की थी।

उनके फोन को एफबीआई ने टैप भी किया था जिसमें फ्लिन क तौर पर रूस के साथ राजनैतिक मामलों पर डील कर रहे थे। लेकिन आरोपों की वापसी पर ओबामा ने आश्चर्य जताया और इसे उत्कृष्ट निर्णय करार दिया। जबकि ट्रंप ने इस टिप्पणी केे बाद ओबामागेट हैशटैग से जब ट्वीट किया तो सोशल मीडिया पर दोनों नेताओं के समर्थक भिड़ गए।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *