पांचवें चरण में वोटिंग…
– फोटो : अमर उजाला

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

जिला विकास परिषद (डीडीसी) चुनाव के आगे बढ़ने के साथ मुकाबला रोचक होता जा रहा है। आज छठे चरण का मतदन है। छठे चरण में जम्मू कश्मीर की 31 सीटों पर मतदान होगा। इसमें जम्मू संभाग की 17 और कश्मीर की 14 सीटों पर मतदान होगा। इन सीटों में जम्मू संभाग के पुंछ जिला की बालाकोट, जिला डोडा की डोडा (घाट) और चिराला, जिला रामबन के संगलदान, गंधारी, जिला रियासी के पौनी और पौनी ए, जिला उधमपुर के जगानू, उधमपुर-1, जिला कठुआ के बरनोटी, हीरानगर, जिला सांबा के राजपुरा, रामगढ़-सी, जिला जम्मू के अरनिया, बिश्नाह और जिला राजोरी के नौशेरा और ढोंगी सीट पर मतदान होगा। कश्मीर संभाग में बारामुला में 2, कुलगाम में 1, अनंतनाग में 2, पुलवामा में 1, कुपवाड़ा में 1, बड़गाम में 2, बांदीपोरा में 2, शोपियां में 2 और गांदरबल में 1 सीट पर मतदान होगा।

मुकाबला हुआ रोचक…
इस चरण में कई सीटों पर मुकाबला रोचक है क्योंकि नेता-मंत्रियों के रिश्तेदार लड़ रहे हैं। कई सीटों पर पूर्व विधायक और पूर्व मंत्री की बहू, जमाई तो कहीं पर भाभी लड़ रही हैं। पूर्व सांसद, विधायकों के संबंधियों के साथ राजनीतिक दलों के पदाधिकारियों के चहेते भी मैदान में हैं। कई जगह बीडीसी चेयरमैन भी लड़ रहे हैं। इससे 13 दिसंबर को होने वाले छठे चरण के मतदान में कई सीटों पर टक्कर का मुकाबला होने की उम्मीद है। 

जिला सांबा की राजपुरा सीट पर पूर्व विधायक ने अपनी बहू को चुनाव में उतारा है। बताया जाता है कि अपनी पार्टी से टिकट न मिलने पर पूर्व विधायक ने बहू को निर्दलीय उतारा है। इससे सत्तापक्ष और विपक्ष के वोट कटने के भी आसार हैं। इस सीट पर एक विशेष समुदाय का दबदबा अधिक रहा है। इसी तरह राजोरी के केरी पंचायत से पूर्व कैबिनेट मंत्री और सांसद ने अपने जमाई को मैदान में उतारा है। उन्हें प्रदेश के एक सक्रिय दल की ओर से सीट दी गई है। नौशेरा की सेरी पंचायत से भी सत्तापक्ष से एक प्रदेशाध्यक्ष ने अपनी भाभी को मैदान में उतारा है। 

ये दोनों ही बार्डर बेल्ट हैं, जिससे मतदाताओं का रुझान भी सीमांत क्षेत्रों से रहेगा। कश्मीर के अनंतनाग से एक सीट से हाल ही में एक राष्ट्रीय स्तर के राजनीतिक दल के प्रदेशाध्यक्ष के बेटे ने चुनाव लड़ा है। हीरानगर सीट से एक निर्दलीय उम्मीदवार बीडीसी चेयरमैन हैं। इस नामांकन ने सबको हैरान किया है। इसी तरह आगामी चरण में भी जम्मू-कश्मीर में कई सीटों पर राजनीतिक दिग्गज और उनके सगे संबंधी चुनाव लड़ते नजर आएंगे। 

जिला विकास परिषद (डीडीसी) चुनाव के आगे बढ़ने के साथ मुकाबला रोचक होता जा रहा है। आज छठे चरण का मतदन है। छठे चरण में जम्मू कश्मीर की 31 सीटों पर मतदान होगा। इसमें जम्मू संभाग की 17 और कश्मीर की 14 सीटों पर मतदान होगा। इन सीटों में जम्मू संभाग के पुंछ जिला की बालाकोट, जिला डोडा की डोडा (घाट) और चिराला, जिला रामबन के संगलदान, गंधारी, जिला रियासी के पौनी और पौनी ए, जिला उधमपुर के जगानू, उधमपुर-1, जिला कठुआ के बरनोटी, हीरानगर, जिला सांबा के राजपुरा, रामगढ़-सी, जिला जम्मू के अरनिया, बिश्नाह और जिला राजोरी के नौशेरा और ढोंगी सीट पर मतदान होगा। कश्मीर संभाग में बारामुला में 2, कुलगाम में 1, अनंतनाग में 2, पुलवामा में 1, कुपवाड़ा में 1, बड़गाम में 2, बांदीपोरा में 2, शोपियां में 2 और गांदरबल में 1 सीट पर मतदान होगा।

मुकाबला हुआ रोचक…

इस चरण में कई सीटों पर मुकाबला रोचक है क्योंकि नेता-मंत्रियों के रिश्तेदार लड़ रहे हैं। कई सीटों पर पूर्व विधायक और पूर्व मंत्री की बहू, जमाई तो कहीं पर भाभी लड़ रही हैं। पूर्व सांसद, विधायकों के संबंधियों के साथ राजनीतिक दलों के पदाधिकारियों के चहेते भी मैदान में हैं। कई जगह बीडीसी चेयरमैन भी लड़ रहे हैं। इससे 13 दिसंबर को होने वाले छठे चरण के मतदान में कई सीटों पर टक्कर का मुकाबला होने की उम्मीद है। 

जिला सांबा की राजपुरा सीट पर पूर्व विधायक ने अपनी बहू को चुनाव में उतारा है। बताया जाता है कि अपनी पार्टी से टिकट न मिलने पर पूर्व विधायक ने बहू को निर्दलीय उतारा है। इससे सत्तापक्ष और विपक्ष के वोट कटने के भी आसार हैं। इस सीट पर एक विशेष समुदाय का दबदबा अधिक रहा है। इसी तरह राजोरी के केरी पंचायत से पूर्व कैबिनेट मंत्री और सांसद ने अपने जमाई को मैदान में उतारा है। उन्हें प्रदेश के एक सक्रिय दल की ओर से सीट दी गई है। नौशेरा की सेरी पंचायत से भी सत्तापक्ष से एक प्रदेशाध्यक्ष ने अपनी भाभी को मैदान में उतारा है। 

ये दोनों ही बार्डर बेल्ट हैं, जिससे मतदाताओं का रुझान भी सीमांत क्षेत्रों से रहेगा। कश्मीर के अनंतनाग से एक सीट से हाल ही में एक राष्ट्रीय स्तर के राजनीतिक दल के प्रदेशाध्यक्ष के बेटे ने चुनाव लड़ा है। हीरानगर सीट से एक निर्दलीय उम्मीदवार बीडीसी चेयरमैन हैं। इस नामांकन ने सबको हैरान किया है। इसी तरह आगामी चरण में भी जम्मू-कश्मीर में कई सीटों पर राजनीतिक दिग्गज और उनके सगे संबंधी चुनाव लड़ते नजर आएंगे। 

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: